इस मंत्र से बढ़ेगा Bank Balance

धन की देवी लक्ष्मी जी की कृपा पाने के लिए शास्त्रों में बहुत सारे उपाय, मंत्र और टोने-टोटके बताए गए हैं। जिन्हें फॉलो करके व्यक्ति धनवान बनने के सपने को साकार कर सकता है। ईश्वर की वाणी यानी वेदों में सनातन धर्म की अपार आस्था और श्रद्धा है। ऋग्वेद में एक चमत्कारी मंत्र बताया गया है, जिससे लक्ष्मी नारायण का आशीर्वाद प्राप्त होता है। इस मन्त्र का जाप शुभ मुहर्त से आरंभ करना चाहिए और शुक्रवार से आरम्भ करना तो सर्वोत्तम फल देता है। हर रोज कुश के आसन पर बैठ कर पूर्व दिशा में मुंह करके 108 बार इस मंत्र का जाप करें।

ऋग्वेद (4/32/20-21) का फेमस मन्त्र है-

ॐ भूरिदा भूरि देहिनो, मा दभ्रं भूर्या भर। भूरि घेदिन्द्र दित्ससि। ॐ भूरिदा त्यसि श्रुत: पुरूत्रा शूर वृत्रहन्। आ नो भजस्व राधसि।।

यदि आप हमेशा आर्थिक समस्या से परेशान रहते हैं तो इसके लिए आप 21 शुक्रवार 9 वर्ष से कम आयु की 5 कन्याओं को खीर और मिश्री का प्रसाद बांटें।

सुबह उठकर मुख्य द्वार पर एक गिलास अथवा लोटा भर पानी डालने से मां लक्ष्मी के आने का मार्ग प्रशस्त होता है।

घर का अतिरिक्त समान कबाड़ी को बेच दें अथवा बाहर फैंक दें। सफाई के बाद घर में धूप अगरबत्ती लगाएं। अमावस्या से पहले घर की पूरी सफाई करवा दें। इससे घर में सुख-शांति बनी रहेगी और लक्ष्मी कृपा भी प्राप्त होगी।

तिरुमला के भगवान वेंकटेश्वर की लगी लाटरी, हुए मालामाल

आंध्र प्रदेश के चित्तूर स्थित तिरुमला के विश्व प्रसिद्ध भगवान वेंकटेश्वर के मंदिर में हैदराबाद के कारोबारी बी. करुणाकर रैड्डी ने 1 करोड़ 116 रुपए का दान दिया है। परिवार के साथ रैड्डी ने भगवान वेंकटेश्वर की पूजा-अर्चना की। उसके बाद तिरुमला के रंगनायकुला मंडपम में तिरुमला तिरुपति देवस्थानम के संयुक्त कार्यकारी अधिकारी के.एस. श्री निवास राजू को उक्त राशि का चैक सौंपा।

READ  राशिनुसार जानें कैसे मिलेगा कर्ज मुक्ति से छुटकारा-आज से ही करें शुरू

धन की देवी लक्ष्मी जी की कृपा पाने के लिए शास्त्रों में बहुत सारे उपाय, मंत्र और टोने-टोटके बताए गए हैं। जिन्हें फॉलो करके व्यक्ति धनवान बनने के सपने को साकार कर सकता है। ईश्वर की वाणी यानी वेदों में सनातन धर्म की अपार आस्था और श्रद्धा है। ऋग्वेद में एक चमत्कारी मंत्र बताया गया है, जिससे लक्ष्मी नारायण का आशीर्वाद प्राप्त होता है। इस मन्त्र का जाप शुभ मुहर्त से आरंभ करना चाहिए और शुक्रवार से आरम्भ करना तो सर्वोत्तम फल देता है। हर रोज कुश के आसन पर बैठ कर पूर्व दिशा में मुंह करके 108 बार इस मंत्र का जाप करें।

ऋग्वेद (4/32/20-21) का फेमस मन्त्र है-

ॐ भूरिदा भूरि देहिनो, मा दभ्रं भूर्या भर। भूरि घेदिन्द्र दित्ससि। ॐ भूरिदा त्यसि श्रुत: पुरूत्रा शूर वृत्रहन्। आ नो भजस्व राधसि।।

यदि आप हमेशा आर्थिक समस्या से परेशान रहते हैं तो इसके लिए आप 21 शुक्रवार 9 वर्ष से कम आयु की 5 कन्याओं को खीर और मिश्री का प्रसाद बांटें।

सुबह उठकर मुख्य द्वार पर एक गिलास अथवा लोटा भर पानी डालने से मां लक्ष्मी के आने का मार्ग प्रशस्त होता है।

घर का अतिरिक्त समान कबाड़ी को बेच दें अथवा बाहर फैंक दें। सफाई के बाद घर में धूप अगरबत्ती लगाएं। अमावस्या से पहले घर की पूरी सफाई करवा दें। इससे घर में सुख-शांति बनी रहेगी और लक्ष्मी कृपा भी प्राप्त होगी।

तिरुमला के भगवान वेंकटेश्वर की लगी लाटरी, हुए मालामाल

आंध्र प्रदेश के चित्तूर स्थित तिरुमला के विश्व प्रसिद्ध भगवान वेंकटेश्वर के मंदिर में हैदराबाद के कारोबारी बी. करुणाकर रैड्डी ने 1 करोड़ 116 रुपए का दान दिया है। परिवार के साथ रैड्डी ने भगवान वेंकटेश्वर की पूजा-अर्चना की। उसके बाद तिरुमला के रंगनायकुला मंडपम में तिरुमला तिरुपति देवस्थानम के संयुक्त कार्यकारी अधिकारी के.एस. श्री निवास राजू को उक्त राशि का चैक सौंपा।

READ  भगवान् शिव की कृपा चाहते हैं तो सावन महीने में करें ये 10 चमत्कारी उपाय