महंगी महंगी दवाएं खा खा कर थक चुकें हैं तो एक बार इसकी शरण में आ कर देखो ।

मालकांगनी को चरक संहिता में शिरोविरेचनार्थ एवं उन्माद व् अपस्मार की चिक्तिसा में प्रयोग बताया है. सुश्रुत संहिता में ज्योतिषमिति

Read more