सफ़ेद बाल – असमय सफ़ेद बालो का इलाज – Safed baalon ka ilaaj

Safed Baalon ka ilaj.

अगर आपके बाल समय से पहले ही सफ़ेद हो गए हैं और आप तरह तरह के प्रयोग कर कर के थक गए हैं और कोई रिजल्ट नहीं मिला तो ये प्रयोग एक बार ज़रूर आज़माएं, सफ़ेद बालों के लिए ये रामबाण है।

साभार – स्वदेशी चिकित्सा सार। – डॉक्टर अजीत मेहता।

जूता चप्पल रबर की, करे नित्य प्रयोग।
शौच ना जावे प्रात:, या नजले का रोग।
धोवे जो सर को सदा, साबुन सोडा डाल।
कछुक समय उपरान्त ही, श्वेत होय सब बाल।।

एक चम्मच भर आंवला चूर्ण दो घूँट पानी के योग से सोते समय अंतिम वस्तु के रूप में ले। असमय बाल सफ़ेद होने पर और चेहरे की कांति नष्ट होने पर जादू सा असर करता हैं। साथ ही ये स्वर को मधुर और शुद्ध बनाता हैं। और गले की गरगराहट भी इस से ठीक होती हैं।

सहायक उपचार।

1. आंवले चूर्ण का लेप।

सूखे आंवले के चूर्ण को पानी के साथ लेइ (पेस्ट) बनाकर इसका खोपड़ी पर लेप करने तथा पांच दस मिनट बाद केशो को जल से धो लेने से बाल सफ़ेद होने और गिरने बंद हो जाते हैं। सप्ताह में दो बार, स्नान से पहले ये प्रयोग आवश्यकतानुसार तीन मास तक करे।

2. आंवला जल से सर धोना सर्वोत्तम

25 ग्राम सूखे आंवले को यवकूट (मोटा मोटा कूटकर) किये हुए टुकड़े को 250 ग्राम पानी में रात को भिगो दे। प्रात काल फूले हुए आंवलों को कड़े हाथ से मसलकर सारा जल पतले स्वच्छ कपडे से छान ले। अब इस निथरे हुए जल को केशो की जड़ो में हलके हलके अच्छी तरह मलिए और दस बीस मिनट बाद केशो को सादे पानी से धो डालिये। रूखे बालो को सप्ताह में एक बार और चिकने बालो को सप्ताह में दो बार धोना चाहिए। आवश्यकता हो तो कुछ दिन तक रोज़ाना भी धोया जा सकता हैं। केश धोने से एक घंटा पहले या जिस दिन केश धोने हो, उसके एक दिन पहले रात में आंवले के तेल की मालिश केशो में करे।

READ  (Dark circle) आँखों के निचे काले घेरे एवं झुरियां को मिटने का सर्वोतम नुस्खा !

इस विधि में हर तीसरे दिन केश धोने से केशो की श्यामलता दिन प्रतिदिन बढ़ती रहती हैं और चिरकाल तक उनका सौंदर्य स्थिर रहता हैं। बालो का गिरना और टूटना बंद हो कर उनकी जेड मज़बूत होती हैं। केश काले, घने, स्वच्छ, चमकीले और रेशम की तरह मुलायम हो जाते हैं। सर दर्द तथा आँखों को भी फायदा होता हैं। मस्तिष्क में ताज़गी रहती हैं और सर के रोग दूर होते हैं। यदि नज़ले और मानसिक दुर्बलता के कारण बाल गिरते हो तो उपरोक्त विधि से केश धोने से निश्चय ही लाभ होता हैं। साबुन से जहाँ त्वचा और बालो को हानि पहुँचती हैं वहां आंवला जल से धोने से त्वचा कान्तियुक्त, शक्तिवान और कोमल होगी और केश घने, कजरारे और रेशमी बनेंगे।

 

विशेष।

इसके साथ में आप सुबह नित्य शौच कर्म से निर्व्रत हो कर १० मिनट तक सर्वांगासन या शीर्षासन आँखे बंद कर के करें। रिजल्ट ज़रूर मिलेगा।

 बालो की दूसरी समस्याओ के लिए आप इस लिंक पर जा कर देख सकते हैं। 

Related Post