आपत्तिजनक वॉट्सऐप फॉरवर्ड से पिछले 5 महीनों से जेल में बंद है ‘डिफॉल्ट’ ऐडमिन

मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले के निवासी एक 21 वर्षीय युवक किसी दूसरे के द्वारा फॉरवर्ड किए गए वॉट्सऐप मेसेज की वजह से पिछले 5 महीनों से जेल में बंद है। आरोपी युवक के परिजनों का कहना है कि ‘आपत्तिजनक’ मेसेज फॉरवर्ड करने के बाद वास्तविक ऐडमिन ने ग्रुप छोड़ दिया और पुलिस की कार्रवाई के समय आरोपी ऐडमिन बन गया, जिस वजह से उसके खिलाफ ऐक्शन लिया गया।

राजगढ़ के तालेन कस्बे के निवासी और बीएससी के स्टूडेंट जुनैद खान को 14 फरवरी को अरेस्ट कर उसके खिलाफ आईटी ऐक्ट के साथ ही देशद्रोह के तहत भी मुकदमा दर्ज किया गया था। वह एक वॉट्सऐप ग्रुप का सदस्य था, जिसके ऐडमिन इमरान ने आपत्तिजनक मेसेज फॉरवर्ड किया था। स्थानीय लोगों ने इरफान तथा ‘ग्रुप ऐडमिन’ के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करा दी।

जमानत देने से इनकार

पुलिस के अनुसार कार्रवाई के वक्त जुनैद ही वॉट्सऐप ग्रुप का ऐडमिन था। वहीं जुनैद के परिजनों ने बताया कि वास्तविक ऐडमिन के ग्रुप छोड़ देने के बाद जुनैद डिफॉल्ट ऐडमिन बन गया। जुनैद के भाई फारुख ने बताया, ‘आपत्तिजनक पोस्ट के शेयर किए जाने के समय ऐडमिन जुनैद नहीं था। देशद्रोह का मामला होने की वजह से कोर्ट ने भी जुनैद को जमानत देने से इनकार कर दिया और इस वजह से वह परीक्षा भी नहीं दे सका। हमने सीनियर पुलिस अधिकारियों के साथ ही सीएम हेल्पलाइन पर भी शिकायत दर्ज कराई, लेकिन हमारी एक नहीं सुनी गई।’

राजगढ़ के एसपी सिमाला प्रसाद और मामले की जांच कर रहे युवराज सिंह चौहान ने कहा, ‘जुनैद के परिजनों ने पहले नहीं बताया कि वह डिफॉल्ट ऐडमिन था। अब कोर्ट में चालान हो जाने के बाद वे यह बता रहे हैं। जुनैद के परिजनों के पास अगर इस दावे का सबूत है तो पेश करें। हम मामले की जांच कर रहे हैं और इरफान को अरेस्ट कर लिया गया है।’

READ  10 Best Hackers The World Has Ever Known