अगर आपको है इनमे से कोई प्रॉब्लम तो है न खाएं तरबूज-हो सकता है जानलेवा

तरबूज गर्मियों के मौसम का सबसे ज्यादा बिकने वाला फल है। क्योंकि तरबूज में पानी की काफी मात्रा होती है इसलिए लोग इस फल को खूब पसंद करते हैं। लेकिन आज हम आपको कुछ ऐसे लोग बता रहे हैं जिन्हें भूलकर भी तरबूज का सेवन नहीं करना चाहिए। यानि कि कुछ ऐसी बीमारियां बता रहे हैं जिनसे घिर लोगों को तरबूज के सेवन से परहेज करना चाहिए। आहार व पोषण विशेषज्ञ सिमरन सैनी बता रही हैं क्यों तरबूज का सेवन नहीं करना चाहिए।

हॉर्ट प्रॉब्लम से घिरे लोग

हॉर्ट की प्रॉब्लम से घिरे लोगों को तरबूज का सेवन करने से बचना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि तरबूज में भारी मात्रा में पोटेशियम होता है। डॉक्टर सैनी का कहना है कि हॉर्ट की प्रॉब्लम से घिरे लोगों को तरबूज का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि इससे हॉर्ट की प्रॉब्लम और बढ़ जाती है।

डायबिटीज की समस्या

क्योंकि डायबिटीज लाइफस्टाइल से जुड़ी समस्या है, इसलिए डायबिटीज के रोगियों को अपने खानपान का विशेष रूप से ध्यान रखना पड़ता है। तरबूज में भारी मात्रा में नेचुरल शुगर होता है। ऐसे में अगर शुगर के मरीज तरबूज का ज्यादा सेवन करेंगे तो उनके ब्लड में शुगर की मात्रा बढ़ जाएगी। इसलिए डायबिटीज के मरीजों को एक सीमित मात्रा में तरबूज का सेवन करना चाहिए।

अस्थमा के रोगी और तरबूज

अस्थमा एक बहुत गंभीर बीमारी है। इसलिए इस रोग से जूझ रहे लोगों को अपने खानपान पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए। अस्थमा के मरीजों के लिए ज्यादा तरबूज का सेवन सही नहीं है। ऐसा इसलिए क्योंकि असथमा में अमीना एसिड होता है। अगर रोगी ज्यादा तरबूज का सेवन करेंगे तो अस्थमा अटैक का खतरा बढ़ सकता है।

किडनी समस्या से घिरे लोग

आजकल लोगों में किडनी की समस्या भी आम हो गई है। किडनी की समस्या भी लाइफस्टाइल से जुड़ी हुई है। डॉक्टरों की माने तो आजकल युवाओं में भी किडनी की समस्या होना आम बात हो गई है। किडनी की समस्या से घिरे लोगों को इसलिए तरबूज का ज्यादा सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि इसमें मिनरल्स की मात्रा अधिक होती है। इसलिए किसी गंभीर समस्या से बचने के लिए ऐसे लोग तरबूज का लिमिटिड मात्रा में ही सेवन करें।

कब्ज को हमेशा के लिए खत्म करता है तरबूज, जानें कैसे?

गर्मियों की चिलचिलाती धूप में ठंडा-मीठा तरबूज न केवल सूखते गले को तरावट देता है, बल्कि यह सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। तरबूज की मिठास के बिना, गर्मियों के मौसम की कल्पना नहीं की जा सकती। इसमें पानी की मात्रा 90 प्रतिशत तक होती है। यह गर्मियों में हमें डिहाइड्रेशन से बचाता है। इसमें एंटी ऑक्सीडेंट तत्व भी होते हैं, जो हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने में मददगार होते हैं। इसके अलावा यह हमारी सेहत के लिए किस तरह फायदेमंद है, आइए जानते हैं:

  • तरबूज में सिट्रूलिन नामक अमीनो एसिड होता है, जो रक्त संचार को सुचारु बनाए रखने में सहायक होता है और मांसपेशियों को दर्द और सूजन से भी बचाता है।
    यह हाई ब्लडप्रेशर को नियंत्रित करने में भी मददगार होता है।
  • किडनी के लिए बहुत फायदेमंद होता है। खासतौर पर यह ज्य़ादा यूरिनेशन की समस्या को भी नियंत्रित करता है।
  • तरबूज में विटमिन बी-6, मैग्नीशियम, फास्फोरस, पोटैशियम, जिंक और कॉपर जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो ब्रेन के लिए खास तौर पर फायदेमंद साबित होते हैं।
    तरबूज में मौजूद लाइकोपीन त्वचा की रंगत निखारने में मददगार साबित होता है।
  • यही नहीं, हाल में पेंसिल्वेनिया यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों द्वारा किए गए रिसर्च से यह भी तथ्य सामने आया है कि तरबूज कैंसर से बचाव में मददगार साबित होता है।
  • यह विटमिन ए, सी और बी-6 का सबसे बडा स्त्रोत है, जो आंखों, त्वचा और मस्तिष्क के लिए फायदेमंद होता है। इसके अलावा इसमें मौजूद विटमिन ए त्वचा और बालों के लिए नई कोशिकाएं तैयार करने में सहायक होता है।
  • तरबूज में मौजूद कोलेजन नामक तत्व त्वचा और बालों के लिए सुरक्षा कवच का काम करता है।
  • तरबूज का ग्लाइसेमिक इंडेक्स मीडियम होता है। इसलिए डायबिटीज के मरीज भी इसका सेवन कर सकते हैं।
  • इसमें मौजूद बीटा कैरोटीन हृदय रोग की आशंका को दूर करने के साथ शरीर की टूटी-फूटी कोशिकाओं के मरम्मत में भी मददगार होता है।
  • सेलेनियम नामक पौष्टिक तत्व सिर्फ तरबूज बीजों में ही पाया जाता है, जो हमारी त्वचा को असमय पडऩे वाली झुर्रियों से बचाता है। इसलिए इसके बीजों को धूप में सुखाने के बाद भून कर खाना त्वचा के लिए फायदेमंद होता है।
  • तरबूज में मौजूद आयरन एनीमिया दूर करने में सहायक होता है।
  • अगर इसे नमक और काली मिर्च के साथ खाया जाए तो यह एसिडिटी दूर करने में भी मददगार साबित होता है।
  • इसमें भरपूर मात्रा में फाइबर मौजूद होता है। इसलिए यह पाचन तंत्र को दुरुस्त रखता है। अगर नियमित रूप से इसका सेवन किया जाए तो कब्ज की समस्या दूर हो जाती है।
  • अगर किसी के चेहरे पर ब्लैक हेड्स की समस्या हो तो कटे हुए तरबूज के टुकडे को प्रभावित स्थान पर स्क्रब की तरह रगडऩे से यह समस्या दूर हो जाती है।
READ  शरीर की अलग -अलग स्म्सायों का समाधान एक नुस्खा

इस बात का रखें ख्याल

तरबूज खरीदते समय उसे हाथों में उठा कर देखें, अच्छा तरबूज हमेशा वजन में भारी होता है। डंठल की तरफ से अगर तरबूज की रंगत में थोडा पीलापन हो तो वह भीतर से अच्छी तरह पका हुआ होता है। तरबूज में पानी की मात्रा बहुत अधिक होती है, इसलिए यह बहुत जल्दी खराब हो जाता है। अत: इसके पोषक तत्वों का फायदा उठाने के लिए काटने के तीन-चार घंटे के भीतर ही इसे खत्म कर दें क्योंकि यह फ्रिज में भी ज्य़ादा दिनों तक टिक नहीं पाता।

तरबूज फेसपैक से 10 मिनट में पाएं दमकती त्‍वचा!

चाहे लड़का हो या लड़की हर कोई चाहता है कि वह हर वक्त सुंदर और फ्रैश दिखें। लेकिन गर्मियों के मौसम में टैनिंग के चलते स्किन पर कालापन होना आम समस्या है। खुद को निखारने और सबसे अलग दिखाने के लिए लोग ना जानें क्या-क्या करते हैं। कई लोग ऐसे भी हैं जिनके पास बिजी शड्यूल के चलते खुद के लिए वक्त ही नहीं रहता है। जिसके चलते वह खुद को निखारने के लिए हजारों रुपये ब्यूटी प्रॉडक्ट्स पर खर्च कर देते हैं। कई बार ये महंगे प्रॉडक्ट्स हमें फायदा करने के बजाय स्किन पर रिएक्शन कर देते हैं।

सभी लोग ये चाहते हैं कि उन्हें सुंदर और फ्रैश दिखने का कोई ऐसा उपाय पता हो जो बिना रिएक्शन किए जल्दी असर करें। अगर आप भी कई दिनों से कुछ ऐसा ही उपाय खोज रहे हैं तो आपकी ये अधूरी ख्वाहिश आज पूरी होने वाली है। आज हम आपको खूबसूरती बढ़ाने का सस्ता और अचूक उपाय बता रहे हैं। इस उपाय का नाम है तरबूजा। जी हां, तरबूजा खाना जितना फायदेमंद है उतना ही यह हमारी स्किन के लिए भी असरदार है। स्किन स्पेशलिस्ट डॉक्टर कविता भी कहती हैं कि तरबूजे का फेसपैक वाकई स्किन पर कमाल का असर करता है। आइए जानते हैं डॉक्टर कविता से बातचीत पर बताए गए तरबूज के फेसपैक के अन्य फायदे और इसे कैसे चेहरे पर कैसे लगाना चाहिए।

READ  तरबूज फेसपैक से 10 मिनट में पाएं दमकती त्‍वचा!

दही और तरबूजे का फेसपैक

दही और तरबूज का फेसपैक स्किन पर कमाल का असर करता है। चेहरा, गर्दन या शरीर के किसी भी हिस्से में जहां आपको फेसपैक लगाने की जरूरत लग रही है वहां आप इसे आसानी से लगा सकते हैं। इसे लगाने के लिए आप कुछ मात्रा में तरबूज के रस और दही को आपस में मिला लें। इस मिश्रण को इस तरह तैयार करें कि दही और तरबूज आपस में अच्छी तरह मिल जाएं। अब इस मिश्रण को आप चेहरे और गर्दन पर लगाकर करीब 15 मिनट के लिए छोड़ दें। जब यह मास्क सूख जाए तो ठण्डे पानी से चेहरा धो लें। इस फेसपैक को हफ्ते में 3 से 4 बार इस्तेमाल किया जा सकता है।

शहद और तरबूज का मास्क

शहद स्किन के लिए एक औषधी की तरह काम करता है। जितना फायदा शहद को खाने का है उतना ही इसका फायदा स्किन पर लगाने का भी है। जब तरबूज के रस के साथ शहद को मिक्स किया जाता है तो इसकी गुणवत्ता और भी ज्यादा बढ़ जाती है। शहद और तरबूज के मास्क को चेहरे पर लगाने के करीब 15 से 20 मिनट बाद चेहरा धो लें। कुछ दिनों तक ऐसा करने से ही हैरान करने वाले फायदे आपके सामने होंगे।

इसके अलावा भी तरबूज के अन्य तरह के फेसपैक बनाए जा सकते हैं जो इस तरह हैं।

  • तरबूज और दूध का मिश्रण स्किन के लिए बहुत फायदेमंद है। इसे नियमित लगाने से चेहरे की टैनिंग दूर होती है और त्वचा पर निखार आता है।
  • खीरे और तरबूज को भी आपस में मिक्स करके फेसपैक बनाया जा सकता है। यह पैक चेहरे पर सन्सक्रीम की तरह काम करता है।
  • अवोकेडो और तरबूज का पैक स्किन के लिए वाकई बहुत फायदेमंद है। क्योंकि दोनों ही फलों में प्रचुर मात्रा में विटामिन्स और मिनरल्स पाए जाते हैं। यह फॉर्मूला स्किन के लिए एंटीऐजिंग का काम भी करता है।
  • तरबूज और केले का फेसपैक स्किन के लिए वरदान से कम नहीं है। एक केला मसलें और उसमें तरबूज का रस मिलाएं। इसे लगाने से त्वचा नम रहती है और मुंहासों की समस्या भी दूर होती है।
READ  चेहरे से दाग धब्बे साफ़ करने का सरल उपाय  

Related Post