अगर बेटी की शादी में आ रही हैं परेशानियां तो कर सकते हैं 9 उपाय

अगर किसी सुयोग्य लड़की की शादी में परेशानियां आ रही हैं तो संभव है कि उसकी कुंडली में कोई ग्रह दोष हो। ज्योतिष की मान्यता है कि अगर कुंडली में अशुभ योग होते हैं तो लड़की का विवाह आसानी से नहीं हो पाता है। बेटी भले ही कितनी भी गुणवान हो, लेकिन फिर भी शादी के योग नहीं बन पाते हैं। उज्जैन की एस्ट्रोलॉजर डॉ. विनिता नागर के अनुसार इन दोषों से मुक्ति के लिए उपाय भी बताए गए हैं। डॉ. विनिता नागर ने पाणिनी विश्वविद्यालय से ज्योतिष में पीएचडी की है और वे करीब 7 साल से ज्योतिष के क्षेत्र में काम कर रही हैं। यहां जानिए कुछ ऐसे उपाय, जिनसे बेटी के लिए जल्दी विवाह के योग बन सकते हैं…

पहला उपाय

जब भी लड़के वाले लड़की को देखने आए तो माता-पिता और बेटी को नए कपड़े पहनना चाहिए। लड़की के कपड़े पीले होंगे तो ज्यादा शुभ रहेगा।

दूसरा उपाय

अगर शादी में अनावश्यक रूप से देरी हो रही है या विवाह के लिए कोई प्रस्ताव नहीं मिल रहा है तो लड़की को हर गुरुवार पीले और शुक्रवार को सफेद वस्त्र धारण करना चाहिए।

तीसरा उपाय

जिस समय बेटी के रिश्ते की बात हो रही हो, उस समय कमरे में जूते-चप्पल नहीं रखना चाहिए। जूते-चप्पल घर के बाहर बाईं ओर व्यवस्थित ढंग से रखना चाहिए।

चौथा उपाय

जिस दिन लड़की के रिश्ते की बात होनी है, उस दिन लड़की को बाल खुले रखना चाहिए। लड़के वाले से बात करते समय चोटी नहीं बांधनी चाहिए।

पांचवां उपाय

अगर लड़की के माता-पिता रिश्ते की बात करने के लिए किसी लड़के के यहां जाते हैं तो उस समय घर में प्रवेश करते समय सीधा पैर अंदर रखना चाहिए।

READ  साप्ताहिक राशिफल -7 से 13 मई के बीच बुध और चंद्रमा के राशि परिवर्तन से गजकेसरी और बुधादित्य योग बनेंगे

छठा उपाय

लड़की जब भी किसी रिश्तेदार की शादी में जाए तो उसे दूल्हा या दुल्हन की मेहंदी में से थोड़ी सी मेहंदी लेकर अपने हाथ में भी लगानी चाहिए।

सातवां उपाय

शाीघ्र विवाह की कामना से लड़की को 16 सोमवार का व्रत करना चाहिए। हर सोमवार को शिव मंदिर जाकर शिवलिंग का जलाभिषेक करना चाहिए। मां पार्वती को श्रृंगार की चीजें चढ़ाएं।

आठवां उपाय

श्रीराम चरित मानस के बालकाण्ड में शिव-पार्वती के विवाह के अध्याय का रोज पाठ करना चाहिए। इस अध्याय के पाठ से जल्दी विवाह के योग बन सकते हैं।

नवां उपाय

गुरुवार को विष्णु-लक्ष्मी मंदिर जाएं। भगवान को बेसन के 5 लड्डू चढ़ाएं और विवाह बाधा दूर करने की प्रार्थना करें।

अगर पति-पत्नी की राशि है एक जैसी तो कैसी हो सकती है मैरिड लाइफ

ज्योतिष में कुल 12 राशियां बताई गई हैं। सभी राशियों के ग्रह स्वामी अलग-अलग होते हैं और इनके आधार पर ही सभी के लोगों का स्वभाव बनता है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार जानिए अगर समान राशि वाले शादी करते हैं तो उनका वैवाहिक जीवन कैसा हो सकता है…

मेष और मेष (ग्रह स्वामी- मंगल)

ये मेहनती राशि है। अगर ये आपस में शादी करते हैं तो जीवन सुखी रहता है।

वृषभ और वृषभ (ग्रह स्वामी- शुक्र)

ये दोनों प्रेम से रहते हैं। इनका विवाह शुभ रहता है।

मिथुन और मिथुन (ग्रह स्वामी- बुध)

ये राशि शांत, लेकिन चिंतित रहती है। अगर ये दोनों शादी करते हैं तो सुख में कमी रहती है।

कर्क और कर्क (ग्रह स्वामी- चंद्र)

READ  ऐसे पेड़ो की लकड़ी से नही करनी चाइये देवी-देवताओं की मूर्ति का निर्माण - भविष्य पुराण

अगर ये दोनों शादी करते हैं तो इनके बीच वाद-विवाद होता रहता है। चिंता बढ़ती है।

सिंह और सिंह (ग्रह स्वामी- सूर्य)

कभी-कभी विवाद हो सकते हैं, लेकिन आमतौर जीवन सुखी रहता है।

कन्या और कन्या(ग्रह स्वामी- बुध)

अगर ये दोनों शादी करते हैं तो इनके बीच असंतुष्टी का भाव रहता है।

तुला और तुला (ग्रह स्वामी- शुक्र)

ये लोग अपने जीवन में मस्त रहने वाले होते हैं। इनका वैवाहिक सुखी रहता है।

वृश्चिक और वृश्चिक (ग्रह स्वामी- मंगल)

इनके बीच विवाद ज्यादा होते हैं। चिंता और तनाव का सामना करना पड़ता है।

धनु और धनु (ग्रह स्वामी- गुरु)

अगर इनकी शादी होती है तो जीवन सुखी रहता है।

मकर और मकर (ग्रह स्वामी- शनि)

ये लोग सुखी रहते हैं, इनकी शादी सफल रहती है।

कुंभ और कुंभ (ग्रह स्वामी- शनि)

ये राशि मेहनती होती है। अगर ये दोनों शादी करते हैं तो इनका जीवन आनंद में व्यतीत होता है।

मीन और मीन (ग्रह स्वामी- गुरु)

इनका दांपत्य जीवन सुखी रहता है।