90 हजार वाली रेलवे भर्ती परीक्षा 2018 को लेकर एक और खुशखबरी..

रेलवे में नौकरी की चाह रखने वाले लोगों के लिए एक अच्छी खबर है. रेलवे में निकाली गई 90 हजार भर्तियों के लिए आवेदन करने को लेकर उम्मीदवारों को और ज्यादा समय मिल सकता है. विभाग के इस फैसले के बाद आवेदकों की संख्या बढ़ सकती है. आईटीआई अनिवार्यता को खत्म करने की घोषणा करते समय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि आवेदन की अंतिम तिथि 15 दिन आगे बढ़ाई जा सकती है. जिसके बाद ये कयास लगाये जा रहे हैं कि जल्द ही इसकी सूचना दे दी जाएगी. आपको बता दें कि शुक्रवार को रेलवे विभाग ने आयु और योग्यता संबंधी नियमों में ढील दी है.

ITI की अनिवार्यता खत्म
युवाओं को बड़ी राहत देते हुए रेल मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को रेलवे के ग्रुप डी (चतुर्थ श्रेणी) पद के लिए आईटीआई की अनिवार्यता को खत्म कर दिया. अब पहले की तरह 10वीं पास छात्र रेलवे में ग्रुप डी के पद के लिए आवदेन कर सकेंगे. इस फैसले से परीक्षा की तैयारी कर रहे लाखों छात्रों को फायदा होगा.

ग्रुप सी, डी के लिए बढ़ाई आयु सीमा
करीब तीन दिन पहले गोयल ने ग्रुप सी और डी पदों के जनरल व आरक्षित कोटे में अधिकतम आयु सीमा को दो साल बढ़ाया था. देशभर में धरना-प्रदर्शन और भारी विरोध के चलते रेलवे बोर्ड ने आयु सीमा बढ़ाने का फैसला लिया था.
सम्मेलन में बोले रेल मंत्री
रेल मंत्री ने रेलवे के आपूर्तिकर्ताओं के सम्मेलन में कहा कि युवा-युवतियों को समान अवसर मिल सके, इसलिए जनहित में कई फैसलों को बदला गया है. उन्होंने कहा कि ग्रुप डी (लेवल-1) में अब दसवीं पास विद्यार्थी परीक्षा के लिए आवेदन कर सकेंगे. आईटीआई की अनिवार्यता को खत्म कर दिया गया है. रेल मंत्री ने ट्वीट कर भी इसकी जानकारी दी. इसके साथ ही रेलवे के ग्रुप सी और डी के सभी श्रेणियों के वर्गों के अभ्यार्थियों की अधिकतम आयु सीमा दो साल और बढ़ा दी है.

READ  आसिफा की वकील-परिवार नहीं चाहता मामले की CBI जांच हो, अब तो सच लग रहा कोई साजिश है इसके पीछे

अनारक्षित पद
रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड की तरफ से 26,502 पदों के लिए मंगाए गए आवेदन में से 13,793 पद अनारक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों से भरे जाएंगे. शेष पद आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों से भरे जाएंगे. अनारक्षित पदों में से सहायक लोको पायलट के 9,230 पद और टेक्निशयन वर्ग के 4,563 पद शामिल हैं.

प्रशिक्षु को सबसे ज्यादा फायदा
इसमें सबसे अधिक फायदा 50 हजार से अधिक अप्रेंटिस (प्रशिक्षु) को मिलेगा. आपको बता दें कि 20 फीसदी पद अप्रेंटिस के लिए आरक्षित होते हैं. इधर आईटीआई की अनिवर्यता को खत्म करने के लिए पिछले कई दिनों से राज्य के अलावा देशभर में आंदोलन चल रहा था. हाल ही में 21 रेलवे बोर्ड की तरफ से लगभग 70 हजार पदों पर बहाली के लिए आवेदन मांगा गया.
क्या है आवेदन शुल्क
अनारक्षित और ओबीसी वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए आवेदन शुल्क 500 रुपए है. वहीं एससी/ एसटी/ भूतपूर्व सैनिक/ महिला/ ट्रांस जेंडर/ आर्थिक रूप से पिछले अभ्यर्थियों 250 रुपए के शुल्क का भुगतान करना है. शुल्क का भुगतान इंटरनेट बैंकिंग या डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड के माध्मय से किया जा सकता है.