चाहे कैसा भी जोड़ों का दर्द हो या फिर हड्डियों का दर्द हो, रात को ये उपाय कर लिया तो कभी नही होगा दर्द, जरूर पढ़े

आज हम जो बताने जा रहे है उस प्राक्रतिक नुस्खे को अजमाने में जरा भी संकोच न करें और शरीर में जोड़ो, घुटनो और अन्य मांसपेशियों के असहनीय दर्द से छुटकारा पायें। ये एक बहुत ही आसान औषधि है इसे रात को सोने से पहले करे। चाहे कैसा भी जोड़ों का दर्द हो या फिर हड्डियों का दर्द हो ये उपाय कर लिया तो कभी नही होगा दर्द।

आजकल की बदलती जीवनशैली में ज्यादातर लोगों को जोड़ों के दर्द की शिकायत है। यूं तो जोड़ों के दर्द की समस्या एक उम्र के बाद ही सामने आती है लेकिन कितना अच्छा हो अगर आप शुरुआत से ही इसके प्रति सचेत रहें। गठिया की समस्या हो जाने पर पूरी लाइफस्टाइल अस्त-व्यस्त हो जाती है। पर आप चाहें तो सही खानपान की मदद से इस परेशानी को आने से रोक सकते हैं. आपने अपने घर में भी दादा-दादी, नाना-नानी को जोड़ों के दर्द से परेशान होते देखा होगा। अगर आप चाहते हैं कि ये समस्या आपको न हो तो आज से ही अपने आहार में इन चीजों को अनिवार्य रूप से शामिल करें।

आवश्यक सामग्री :

  • 5 सूखे आलूबुखारा
  • 1 सुखी खुबानी
  • 1 सुखी अंजीर

इसे इस्तेमाल करना बेहद आसान है 2 महीने तक सिर्फ सोने से पहले इन को खाए और आपका दर्द प्राक्रतिक तरीके से ख़तम हो जाएगा।

  1. सुखा आलूबुखारा : सूखे आलूबुखारा में पाए जाने वाले जैविक सक्रिय पदार्थ रेडियोथेरेपी या अन्य विकिरण आवरण से होने वाले अस्थि क्षति को रोकने में प्रभावी होते हैं सूखा आलूबुखारा विकिरण से हड्डियों की रक्षा करता है। फाइबर से भरपूर होने के कारण ये कब्ज से छुटकारा दिलाता है और पाचन शक्ति बढ़ता है।
  2. सुखी खुबानी : ये फल antioxidants, potassium, non-heme iron, और dietary fiber का बहुत हे अच्छा स्रोत है। खुबानी में पाए जाने वाले anti oxidants हमारे शरीर में प्रतिरोधक क्षमता , सेल की वृद्धि और आँखों के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। Non-heme iron शरीर में iron की कमी को पूरा करता है , जो के संसार में सबसे आम पाई जाने वाली समस्या है।
  3. सुखी अंजीर : इस में फाइबर होता है जो हमारे पाचन तन्त्र को मज़बूत करता है और दिल को सेहतमंद रखने में मदद करता है। फाइबर से कब्ज़ भी ठीक होती है। ये फल कई खनिज पदार्थो से भरपूर होता है जैसे के magnesium, iron, calcium, और potassium. ये खनिज हड्डियों की मजबूती के लिए ज़रूरी होते हैं साथ ही प्रतिरोधक क्षमता और चमडी के लिए भी फायदेमंद होता है। अंजीर शरीर से हानिकारक estrogen को स्वतः ही निकालने में मदद करता है। शरीर में estrogens के ज़यादा मत्रा कई समस्याओं को उत्पन्न करती है जैसे के सर दर्द, uterine और breast cancer भी हो सकता है।
READ  कोलेस्ट्रॉल , इन्फेक्शन , ब्लडप्रेशर जैसी कई बीमारियों का समाधान देसी नुस्खा , कुछ इस तरेह है

गठिया, जोड़ो का दर्द और हड्डियाँ मज़बूत करने का घरेलु उपाय :

  1. पीपल और बेलिया : पीपल और बेलिया के पत्ते व छाल को एक साथ पीसकर लेप बना लें। इसका लेप अंगुलियों व घुटनों पर करने से अंगुलियों व घुटनों की हड्डियां मजबूत होती है।
  2. दौ चुटकी चूर्ण : घुटनों के दर्द में त्रिफला, पीपल की जड़, सोंठ, कालीमिर्च और पीपल को 10-10 ग्राम की मात्रा में लेकर पीसकर चूर्ण बना लें। यह 2 चुटकी चूर्ण शहद के साथ सुबह-शाम लेने से घुटनों का दर्द दूर हो जाता है।
  3. पीपल के पेड़ की छाल : 10 ग्राम पीपल के पेड़ की छाल का काढ़ा बनाकर उसमें शहद डालकर सेवन करने से गठिया रोग ठीक हो जाता है।
  4. प्याज और लहसुन : लहसुन के सेवन से जोड़ों के दर्द में काफी आराम मिलता है। विशेषज्ञ भी मानते हैं कि प्याज और लहसुन में कई ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो जोड़ों के दर्द में फायदेमंद होते हैं। इनके नियमित सेवन से जोड़ों के दर्द की शिकायत होने का खतरा काफी कम हो जाता है।
  5. बादाम और मूंगफली : विटामिन ई जोड़ों के दर्द के लिए बहुत फायदेमंद होता है।  खासतौर पर बादाम में पाया जाने वाला ओमेगा 3 फैटी एसिड सूजन और गठिया के लक्षणों को कम करने में मददगार होता है। बादाम के अलावा मूंगफली में भी पर्याप्त मात्रा में ओमेगा 3 फैटी एसिड पाया जाता है।
  6. पपीता : पपीते में बड़ी मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है। विटामिन सी न केवल इम्यून सिस्टम को बेहतर बनाता है बल्क‍ि ये जोड़ों की सेहत के लिए भी काफी फायदेमंद है।
  7. एप्पल साइडर विनिगर और ब्रोकली : एक ग्लास पानी में एप्पल साइडर विनिगर मिलाकर पीने से जोडों के दर्द में फायदा मिलता है। इसके अलावा ब्रोकली खाने से भी गठिया में आराम मिलता है। ब्रोकली में कई ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो जोड़ों की सेहत लंबे समय तक बरकरार रखते हैं।
  8. एक्सरसाइज : इसके अलावा सही साइज के जूते पहनकर, एक्सरसाइज करके और मोटापे को नियंत्रित रखकर भी आप जोड़ों के दर्द से राहत पा सकते हैं।
READ  बल बुद्धि वीर्य और ताक़त बढाने के लिए अखरोट खाने का सही तरीका.

गठिया में इन पदार्थों का भोजन ले :

  • एक वर्ष पुराने चावल, एरण्डी का तेल, पुरानी शराब, लहसुन, करेला, परवल, बैंगन, सहजना, लस्सी, गोमूत्र, गर्म पानी, अदरक, कड़वे एवं भूख बढ़ाने वाले पदार्थ, साबूदाना, तथा बिना चुपड़ी रोटी का सेवन करना गठिया रोग में लाभकारी है।
  • इस रोग में फलों का सेवन और सुबह नंगे पैर घास पर टहलना रोगी के लिए लाभकारी होता है। गठिया रोग में रात को सोते समय एक गिलास दूध में जरा-सी हल्दी डालकर पीने से लाभ मिलता है