सस्ते इंटरनेट के मामले में Jio को पछाड़ देगी यह कंपनी, शुरू होने वाली है सर्विस !!

स्मार्टफोन यूजर्स के लिए एक और खुशखबरी है. अब आपको महज 1 रुपए में अनलिमिटेड डाटा की सुविधा मिलेगी. जी हां, यह कोई ख्याली पुलाव नहीं बल्कि हकीकत है. जब से रिलायंस जियो (Reliance Jio) ने टेलीकॉम मार्केट में एंट्री की है, तब से बाजार में कंप्टीशन बढ़ गया है. ऐसे में सभी टेलीकॉम कंपनियां सस्ते-सस्ते प्लान लॉन्च कर ग्राहकों को आकर्षित कर रही हैं. अब किफायती स्मार्टफोन और टैबलेट बनाने वाली कंपनी डाटाविंड ने सस्ते डाटा की सुविधा देने का ऐलान किया है. इसके बाद उम्मीद की जा रही है कि बाजार में कंप्टीशन और बढ़ जाएगा.

बीएसएनएल से करार हुआ

सस्ती डाटा सुविधाओं के लिए डाटाविंड ने भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) के साथ करार किया है. बीएसएनएल के साथ करार के बाद डाटाविंड कंपनी एक रुपये प्रतिदिन में अनिलिमिटेड डाटा सेवा शुरू करने जा रही है. कंपनी के प्रमुख सुनीत सिंह तुली ने कहा कि इसको लेकर बीएसएनएल से करार किया जा चुका है और इस महीने के मध्य तक यह सेवा शुरू की जाएगी. उन्होंने कहा कि इसके लिए कंपनी के पेंटेंट ऐप ‘मेरानेट’ का उपयोग किया जायेगा.

पहले इंडोनेशिया में लॉन्च किया गया

सुनीत सिंह ने बताया कि इस एप को सबसे पहले इंडोनेशिया में लॉन्च किया गया है. वहां पर ग्राहकों से अच्छा रिस्पांस मिल रहा है. मेरानेट नई तकनीक पर आधारित है. इसमें इंटरनेट पर आने वाली फाइलों को कंप्रेस्ड कर बहुत छोटा कर दिया जाता है लेकिन उसकी गुणवत्ता पर कोई असर नहीं पड़ता है. तुली ने कहा कि भारत में अभी यह ऐप बीएसएनएल के नेटवर्क पर काम करेगा और जब इस ऐप का उपयोग किया जायेगा तो ग्राहक के डाटा का उपयोग नहीं होगा बल्कि मेरानेट का डाटा खर्च होगा.

READ  WhatsApp बग, भेजे गए मैसेज 7 मिनट के बाद भी ले सकते हैं वापस !!

हर दिन एक रुपये वसूला जायेगा
तुली ने यह भी बताया कि बीएसएनएल से थोक में डाटा के उपयोग का करार कर लिया गया है. इसके लिए ग्राहकों से प्रतिदिन एक रुपये ही वसूला जायेगा. डाटा यूज करने के लिए सब्रक्रिप्शन सालाना आधार पर होगा और इसके लिए एकमुश्त भुगतान करना होगा. उन्होंने यह भी बताया कि यहां पर इंटरनेट डाटा उपयोग करने की कोई सीमा नहीं होगी. कंपनी की तरफ से अनलिमिटेड डाटा उपलब्‍ध कराया जाएगा.

तेज होगी ब्राउजिंग स्‍पीड

इंटरनेट की स्‍पीड के बारे में तुली ने कहा कि स्‍पीड सेवाप्रदाता कंपनी के अनुसार होगी. लेकिन ब्राउजिंग स्‍पीड अन्‍य की तुलना में अधिक होगी क्‍योंकि इसमें कम्‍प्रेसन एक्‍सेलरेशन तकनीक का इस्‍तेमाल किया गया है. आमतौर पर यदि एक फाइल की डाउनलोडिंग में 30-32 सेकेंड लगते हैं तो इस तकनीक के बाद वह फाइल महत 1 या 2 सेकेंड में डाउनलोड हो जाएगी.

सिंह ने यह भी बताया कि अभी बीएसएनएल के साथ ही इस सर्विस के लिए एमओयू साइन हो पाया है. आने वाले समय में रिलायंस जियो, एयरटेल, आइडिया और वोडाफोन के साथ भी करार हो सकता है. इन कंपनियों से बातचीत चल रही है.