बजट इफेक्टः LTCG टैक्स से धड़ाम हुआ बाजार, सेंसेक्स में 840 अंकों की भारी गिरावट

बजट में घोषित दीर्घकालिक पूंजीगत लाभ कर और म्यूचुअल फंडों से आय पर 10 फीसदी टैक्स के कारण शुक्रवार को शेयर बाजार में भारी गिरावट दर्ज की गई। रही-सही कसर रेटिंग एजेंसी फिच ने यह कहकर पूरी कर दी कि भारत सरकार पर कर्ज का बढ़ता बोझ उसकी रेटिंग में सुधार की राह में सबसे बड़ा रोड़ा है।

नतीजतन, सेंसेक्स में 839. 91 अंकों की गिरावट के साथ 35,066.75 अंकों पर जबकि निफ्टी 256 अंकों से ज्यादा का गोता लगाकर 10,760.60 अंकों पर बंद हुआ।

शेयर बाजार में कारोबार शुरू होते ही ट्रेडरों और निवेशकों ने लंबे समय के लिए रखे शेयरों को धड़ाधड़ बेचना शुरू कर दिया। ऐसे सभी निवेशक 1 अप्रैल, 2018 से दीर्घकालिक पूंजीगत लाभ कर लागू होने से पहले अपनी पोजीशन मजबूत करना चाहेंगे।

दीर्घलाकि पूंजीगत लाभ कर के अलावा शेयर बाजार पर राजकोषीय घाटे के लक्ष्य को 3.2 फीसदी से बढ़ाकर 3.5 फीसदी किए जाने का भी असर दिखा। रेटिंग एजेंसी फिच ने इसका हवाला देते हुए कहा है कि घाटा बढ़ने के कारण ही भारत की रेटिंग में सुधार नहीं किया जा रहा है।

Related Post

READ  13 साल बाद मूडीज ने सुधारी भारत की रेटिंग, शेयर बाज़ार पहुंचा नयी ऊँचाइयों पर