पायरेसी की शिकार हुई पद्मावत, मेकर्स ने साइबर सेल में कराई शिकायत दर्ज

रणवीर सिंह और दीपिका पादुकोण अभिनीत फ़िल्म पद्मावत भले ही बॉक्सऑफ़िस पर 150 करोड़ रुपये के करीब पहुंच गई हो । लेकिन फ़िल्म के सामने फ़िर से एक और मुश्किल आ खड़ी हुई है । संजय लीला भंसाली की महत्वाकांक्षी ऐतिहासिक फ़िल्म पद्मावत भी पायरेसी का शिकार हो गई । फ़िल्म के मेकर्स वायकॉम 18, इस बाबत दोषियों को सजा दिलाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे है । और इस बात की पूरी कोशिश कर रहे हैं कि उनकी फ़िल्म पद्मावत का पायरेटेड संस्करण वाला लिंक जल्द से जल्द अक्षम हो जाए ।

पायरेसी से पद्मावत के मेकर्स को उठाना पड़ा रहा है नुकसान

जैसे ही मेकर्स को उनकी फिल्म की धड़ल्ले से पाइरसी पर चलने की खबर मिली तो इस मामले को गंभीरता से लेते हुए उन्होंने एंटी ऑनलाइन पाइरसी यूनिट और सरकार से मदद मांगी । ये सेल इंटरनेट और सोशल मीडिया से जुड़े मामलों की देखरेख करती है । पायरेसी की वजह से फ़िल्म के मेकर्स को काफ़ी नुकसान उठाना पड़ रहा है । वायकॉम 18, ने महाराष्ट्र, दिल्ली और चंडीगढ़ के साइबर क्राइम सेल में इस पायरेसी के खिलाफ़ शिकायत दर्ज कराई है । ताकि इस अपराध के खिलाफ़ सख्त कदम उठाए जाएं । आपको बता दें कि फ़िल्म रिलीज होने के कुछ दिनों बाद फिल्म निर्माताओं ने फिल्म के अधिकारों का उल्लंघन करने से किसी भी व्यक्ति या संस्था को रोकने के लिए मद्रास उच्च न्यायालय से जॉन डो के आदेश प्राप्त किए ।

 click here for more details

प्रोडक्शन हाउस के एक प्रवक्ता ने एक अख़बार को बताया कि संबंधित राज्यों में साइबर क्राइम सेल हैं जिन्होंने इस मामले में पूरी तरह से जांच शुरू कर दी है । उन्होंने यह भी बताया कि कुछ आईपी एड्रेस पहले से ब्लॉक कर दिए गए हैं और पायरेट्स ट्रेक किए जा रहे है । डीवीडी बनाने में शामिल स्ट्रिंगर्स को भी सतर्क कर दिया गया है, ताकि पाइरेट्स को पकड़ा जा सके । प्रोडक्शन हाउस के अनुसार, पद्मावत को 35 वेबसाइटों पर टॉरेंट पर अपलोड किया गया था और साइबर सेल ने उनमें से प्रत्येक को हटा लिया है । वे उपयोगकर्ता द्वारा दिए गए भुगतान ट्रेल पर नज़र रखने के स्रोत को आगे बढ़ाएंगे ।

READ  रजनीकांत कर सकते है जनवरी में अपनी पार्टी का ऐलान,रजनी तमिल फिल्मों के सुपरस्टार है

आपको बता दें कि महाराष्ट्र साइबर डिजिटल यूनिट को शुरू किए अभी महज चार महीने हुए हैं । ये टीम फिल्म इंडस्ट्री की मोशन पिक्चर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया, प्रोड्यूसर गिल्ड और इंडियन म्यूजिक इंडस्ट्री के साथ मिलकर काम करती है । ऑनलाइन एंटी पायरेसी की ये टीम इंटरनेट पर उन वेबसाइट्स पर कड़ी निगरानी रखती है जो इस तरह से फिल्मों को इंटरनेट पर लीक करते हैं ।

गौरतलब है कि संजय लीला भंसाली की बेहद विवादों से घिरी पद्मावत तमाम विरोधों के बाद 25, जनवरी को सिनेमाघरों में रिलीज हुई । इस फ़िल्म को लेकर हिंदु राजपूत समूह और करणी सेना ने जमकर बबाल काटा था । लेकिन जैसे ही यह फ़िल्म रिलीज हुई सभी को अपने सवालों का जवाब मिल गया । और फ़िल्म को लेकर जितने भी विवाद थे, सभी ठंडे पड़ गए । दीपिका पादुकोण, रणवीर सिंह और शाहिद कपूर के बेहतरीन प्रदर्शन ने हर जगह सरहाना प्राप्त की । फ़िल्म समीक्षकों के साथ-साथ दर्शकों ने भी फ़िल्म को खूब पसंद किया और कर रहे है । हालांकि फ़िल्म में दिखाया गया रानी पद्मनी का जौहर सीन कुछ लोगों के गले नहीं उतर रहा है ।

Related Post