PICs: चंद्रग्रहण के दौरान देखें चांद के अलग-अलग शेड्स, रोमांच के बीच पल-पल कैसे बदला रंग?

करीब 174 साल के बाद हुई दुर्लभ खगोलीय घटना को लेकर राजधानी वासियों में जबरदस्त रोमांच दिखा। हुसैनाबाद में घंटाघर पार्क में पांच टेलीस्कोप लगाकर इस दुर्लभ खगोलीय घटना को इंदिरागांधी नक्षत्रशाला की टीम ने दिखाया। वहीं साइंस सिटी अलीगंज में भी टेलीस्कोप से चंद्रग्रहण के साथ सुपर ब्लड मून और ब्लू मून को दिखाया गया।

 

नक्षत्रशाला के प्रभारी और संयुक्त निदेशक अनिल यादव ने बताया कि मौसम खराब होने की वजह से शुरूआत में करीब 20 मिनट तक चंद्रग्रहण को नहीं देखा जा सका। इसके बाद चंद्रमा दिखाई देने लगा।

शाम सात बजे के बाद करीब डेढ़ घंटे के लिए पूर्ण चंद्रग्रहण रहा। सैकड़ों लोग इस दुर्लभ घटना को टेलीस्कोप से देखने के लिए इकट्ठा हुए। यह आयोजन यूपी अमैच्यॉर एस्ट्रोनॉमर्स क्लब के सहयोग से किया गया था।

नक्षत्रशाला में वैज्ञानिक अधिकारी सुमित श्रीवास्तव ने बताया कि चंद्रग्रहण के समय धरती के पास होने की वजह से जहां औसत से बड़ा चंद्रमा दिखा। वहीं इसका रंग भी बदलता रहा। चंद्रमा को हल्के नीले और सुर्ख लाल रंग में भी देखा गया। इन दोनों घटनाओं को ब्लू मून और ब्लड मून कहा जाता है। देर रात तक खगोलीय घटना देखने के लिए लोगों की भीड़ क्लॉक टावर पर लगी रही।

Related Post

READ  इनकी ईमानदारी की कसमें खाते लोग, 4 बार MLA रहे, घर के टीन तक नहीं बदलवा पाए