चंद्र ग्रहण 2018 समय: जानिए भारत में कब से कब तक रहेगा ग्रहण का प्रभाव

Chandra Grahan 2018 Date and Time in India: साल 2018 का पहला चंद्रग्रहण बुधवार 31 जनवरी को है। यह पूर्ण चंद्र ग्रहण भारत के अलग-अलग शहरों में अलग-अलग समय पर दिखाई देगा। हालांकि, समय का यह अंतर कुछ ही पलों का होगा। इस चंद्र ग्रहण के कुछ ही दिन बाद सूर्य ग्रहण भी पड़ने वाला है। 31 जनवरी को चंद्रग्रहण के दिन दिन चांद तीन रंगों में दिखाई देगा, ऐसा चांद 35 साल बाद होगा। चंद्र ग्रहण के दिन भगवान के दर्शन करना अशुभ माना जाता है। इसलिए इस दिन मंदिर के पट बंद रहते हैं और किसी प्रकार की पूजा का विधान नहीं किया जाता है।

भारत में चंद्रग्रहण दिखाई देने से सूतक काल भी शुरू होगा। 31 जनवरी बुधवार को सूतक काल सुबह 07 बजकर 07 मिनट पर शुरू होकर रात 08 बजकर 41 मिनट पर खत्म हो जाएगा। यह ग्रहण कुछ लोगों के लिए शुभ तो कुछ लोगों के लिए अशुभ साबित होगा। इसके अलावा इस चंद्र ग्रहण के दिन ही 176 साल बाद पुष्य नक्षत्र का शुभ संयोग बन रहा है। इस दिन चांद आम दिनों के मुकाबले बड़ा दिखाई देगा।

click here for more detail 

चंद्र ग्रहण समय: भारतीय ज्योर्तिविज्ञान परिषद के मुताबिक,पृथ्वी चंद्र ग्रहण के प्रभाव वाले क्षेत्र में 04 बजकर 22 मिनट में दाखिल होगी। दरअसल, इस दौरान पृथ्वी की एक आंशिक बाहरी छाया चंद्रमा पर पड़ेगी। आंशिक चंद्रग्रहण शाम 5 बजकर 18 मिनट से शुरू होगा। पूर्ण चंद्रग्रहण शाम 06:22 बजे से लेकर 07:38 बजे तक चलेगा। आंशिक चंद्रगहण 8 बजकर 41 मिनट पर खत्म होगा। चंद्रमा पृथ्वी की छाया से पूरी तरह रात 9 बजकर 39 मिनट पर बाहर निकलेगा।

READ  आप असली अंडा खाते हैं या नकली, इन 5 तरीकों से पहचानें

चंद्रमा के उदय का समय: कोलकाता में 5:17 बजे, दिल्ली में 6:04 बजे, चेन्नई में 6:04 बजे, मुंबई में 6:26 बजे

क्या होता है चंद्र ग्रहण – चंद्र ग्रहण तब होता है जब चन्द्रमा और सूर्य के बीच में पृथ्वी के आ जाए। चंद्र ग्रहण तब होता है, जब सूर्य व चन्द्रमा के बीच पृथ्वी इस प्रकार से आ जाती है कि पृथ्वी की छाया से चन्द्रमा पूरी तरह या आंशिक भाग ढक जाती है। ऐसी स्थिति में पृथ्वी सूर्य की किरणों के चन्द्रमा तक नहीं पहुंचने देती है, जिसके कारण पृथ्वी के उस हिस्से में चन्द्र ग्रहण नजर आता है।

Related Post