ज़िन्दगी में कभी जंगली जानवरों से आमना सामना हो जाये तो ? कैसे बचें इन जानवरों से

कई बार हमारे साथ ऐसा होता है कि कुछ परिस्थितियों में हमें खतरनाक जानवरों का सामना करना पड़ जाता है और हम उस समय अपने आप को असहाय महसूस करते हैं। लेकिन ऐसी स्थिति में हम कुछ बातों का ध्यान रख हमारी जान बचा सकते हैं। आइये जानते हैं अगर आपका भी ऐसे जंगली जानवरों से कभी सामना हो जाए तो उस स्थिति में अपने आप को कैसे बचाएं।

शेर

शेर की आंखों में आंखें डालें. नजर मिलाएं रखें. ऐसा करते हुए बहुत धीमे धीमे पीछे हटें. लेकिन पीठ न दिखाएं और न ही दौड़े. बस उल्टे कदम पीछे हटें. अगर शेर तब भी आपकी ओर बढ़े तो रुक जाएं और खुद को बड़ा दिखाने की कोशिश करें. तेज आवाज निकालें.

बाघ

Impressive, but unimpressed

ये शेर से कहीं ज्यादा खतरनाक है. उसमें ताकत और फुर्ती का जबरदस्त संतुलन होता है. बाघ से नजरें न मिलाएं. लेकिन उस पर नजर रखते हुए धीमे धीमे पीछे हटें. मौका मिले तो पेड़ पर चढ़ जाएं, लेकिन बेहतर होगा कि बाघ के इलाके में पैदल चलने का दुस्साहस न करें.

तेंदुआ


ये सबसे चालाक और घातक शिकारी है. तेंदुए से कभी नजर न मिलाएं, बिल्कुल नहीं. आंखें मिलाने को तेंदुआ चुनौती की तरह देखता है. तेंदुआ शेरों की तरह हमला करने का नाटक भी नहीं करता है. वह सीधा हमला करता है. तेंदुए से सामना होने पर पीठ को पेड़ या दीवार पर लगा दें और शोर करते हुए खुद को बड़ा दिखाने की कोशिश करें.

हाथी


हाथी से सामना हो तो संकरे और उबड़ खाबड़ रास्तों की तरफ आड़े तिरछे अंदाज में भागना चाहिए. अगर हाथी बहुत ही करीब हो और कोई चारा न हो तो हिम्मत के साथ उसके सामने खड़े हो जाइये. हाथी चेतावनी देता हुआ अपने कान फटकायेगा. हमला करने का नाटक भी करेगा. उसे ध्यान से देखें, अगर वह हमला करने लगे तो भागें और दौड़ते समय अपनी टोपी, कमीज या कोई और चीज फेंके ताकि उसका ध्यान भटके.

READ  ये विज्ञान के कुछ ऐसे FACTS है जिन्हें सब झूठा मानते है !!!

दरियाई घोड़ा


शांत माना जाने वाला दरियाई घोड़ा अफ्रीका में सबसे ज्यादा लोगों की जान लेता है. भारी भरकम दरियाई घोड़ा करीब 48 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ता है. अगर वो पीछे पड़े तो तुंरत पेड़ खोजिये.

जंगली भैंसा


खुली भैंस को बिल्कुल मत भड़काइये. भैंस को गुस्सा आया तो वह बिना चेतावनी दिये हमला करती है. उसके हमले से बचना बहुत मुश्किल होता है. बेहतर है कि भैंस से निश्चित दूरी बनाए रखें.

कुत्ता


कुत्ता काटने के लिए आए तो दौड़ बिल्कुल न लगाएं. बस अपनी जगह पर खड़े हो जाएं. कुत्ते से नजर न मिलाएं. जोर से चीखते हुए कुत्ते पर पलटवार करें. अगर आप गिर जाएं तो अपनी गर्दन बचाएं और जैसे ही मौका मिले, कुत्ते के कान दबोच लें.

भालू


न तो पेड़ पर चढ़ें और न ही भागें. भालू इन दोनों में माहिर होता है. भालू के सामने शांत रहें. धीरे धीरे बाहें फैलाकर खुद को बड़ा दिखाएं. धीमी आवाज में कुछ कहें ताकि उसे पता चले कि आप आम जानवर नहीं हैं. धीरे धीरे पीछे हटें. इसके बावजूद अगर भालू हमला करे तो किसी तरह उसकी नाक पर जोरदार वार करें.

सांप


रास्ते में सांप आ जाए तो धीरे से अपना रास्ता बदल लें. अगर आपको लगे कि सांप पीछा कर रहा है तो जोर जोर से कदम पटखें, इससे कंपन होगी और सांप को पता चल जाएगा कि आप विशाल जीव हैं. दुर्भाग्य से अगर सांप डस ले तो डसन वाली जगह को कसकर बांध लें. तुरंत अस्पताल जाएं और काटने वाले सांप को याद रखने की कोशिश करें.

READ  भारतीय नौसेना के विध्वंसक युद्धपोत और पनडुब्बिया-Indian Navy Warships and Submarines

मगरमच्छ


मगरमच्छ के हमले से बचना बहुत मुश्किल है. पानी में करीब करीब नामुमकिन. मगरमच्छ से बचने का सबसे अच्छा तरीका है बचाव. जहां मगर होने का शक भी हो, वहां पानी के करीब पैदल न जाएं, तैरने से भी बचें.