पुरुष होने के नाते अंडरवियर के बारे आपको ये भी पता होना चाहिए!

अंडरवियर अर्थात जांघिया यूं तो पैंट के नीचे पहने जाने वाला एक परिधान है, जिस पर पहले कोई खास तवज्जो नहीं दी जाती थी। लेकिन तेजी से ग्लैमराइज होते समाज में अंडरवियर के चुनाव व पहनावे में बड़ा बदलाव आया है। हालांकि अंडरवियर कुछ मायनों में स्वास्थ्य से भी जुड़ा हो सकता है, इसके चुनाव में रुची होना गलत भी नहीं है।

कुछ लोगों का मानना है कि अंडरवियर का चुनाव पुरुष प्रजनन क्षमता को प्रभावित करता है, लेकिन क्या पुरुषों की जेब और उनके जांघिये के बीच भी कोई रिश्ता हो सकता है? हमें तो पता नहीं, लेकिन अमरीका के दिग्गज अर्थशास्त्री एलन ग्रीनस्पैन ने कभी कहा था कि अर्थव्यवस्था की सेहत का अंदाजा पुरुषों के जांघिये की बिक्री से लगाया जा सकता है। खैर जो भी हो अंडरवियर का आज के दौर में एक विशेष महत्व है, जिससे जुड़े कई पहलुओं की हमें जानकारी होनी चाहिए, तो चलिये आज अंडरवियर और इससे जुड़े शोध के बारे में बात करते हैं जांघिये के विषय में अपना ज्ञानवर्धन करते हैं।

अंडरवि‍यर का प्रजनन क्षमता पर प्रभाव?

शोध बताते हैं कि बहुत उच्च तापमान शुक्राणु के लिए हानिकारक साबित हो सकता है। और हो सकता है कि इसी कारण हाल ही में पुरुषों को शुक्राणुओं की संख्या या एकाग्रता में कमी के डर से अंडरवीयर पहनने से बचने के लिए कहा गया। हालांकि, हाल ही के दो अध्ययनों के अनुसार, अंडरवियर का चुनाव से इस बात पर कोई फर्क नही पड़ता।

टाइट अंडरवि‍यर छोड़ो, नहीं हो सकते हो नपुंसक: शोध

फ्रांस में हुए एक शोध में बताया गया था कि 1990 के दशक के बाद से पूरे विश्‍व में स्‍पर्म काउंट यानी प्रति मि‍लीलीटर वीर्य में शुक्राणुओं की संख्‍या घट गई है। इतना ही नहीं इस दौरान शुक्राणुओं की गुणवत्‍ता में भी कमी आयी। इस शोध में पाया गया है कि 1985 से 2005 के बीच पुरुषों में स्‍पर्म काउंट में 30 प्रतिशत तक की कमी दर्ज हुई है। सोध के अनुसार स्‍वस्‍थ्‍य शुक्राणु भी वर्तमान में आसानी से नहीं मिल पा रहे हैं। फ्रांस के शोधकर्ताओं का कहना था कि फ्रेंची अंडरवियर पहनने वालों पर इसका प्रभाव ज्‍यादा पड़ता है। फ्रांस के पुरुषों में स्‍पर्म काउंट एक तिहाई गिरावट देखी गयी। शोधकर्ताओं ने इसके पीछे बेतरतीब खान-पान, डाईटिंग और टाइट फिटिंग के कपड़े पहनने आदि को बड़ी वजहें बताया। उनके अनुसार खासतौर पर टाइट अंडरवीयर पहनने से वीर्य पर असर पड़ता है।

READ  जवान रहने के लिए महज 17 साल की उम्र से सांप का जहर नसों में भर रहा है यह शख्स !!

अंडरवियर के लिए महिलाओं पर अधिक भरोसा

एक अध्ययन में यह बात सामने आई थी कि ब्रिटेन में हर तीन में एक पुरुष अंडरवियर की खरीदने के लिए अपनी मां, पत्नी या महिला मित्र पर भरोसा करते हैं। स्‍टाइल अध्ययन के अनुसार महिलाएं तय करती हैं ब्रिटिश पुरुष किस स्टाइल का अंडरवियर पहनें। यह अध्ययन सेन्सबरी द्वारा कराया गया था। सेन्सबरी के प्रवक्ता ने कहा था कि, ‘हमने महसूस किया कि पिछले कुछ सालों में पुरुषों के अंडरवियर की बिक्री में 30 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई। हमारे स्टोरों ने हमें बताया कि महिलाएं अपने जीवनसाथियों या मित्रों के लिए अंडरवियर तलाशती हैं।’

सिन्‍थेटिक अंडरवियर पहनना

हम सभी जानते हैं कि जननांगो की स्वच्छता बेहतर स्वास्थ्य के लिए बहुत मायने रखती है। क्योंकि सिन्‍थेटिक अंडरवियर जल्‍दी सूखती नहीं है, जिससे पसीने की वजह से वहां यीस्‍ट इंफेक्‍शन, गीलेपन की वजह से खुजली होना तथा बदबू आने का डर हमेशा रहता है। हां कभी-कभार सिन्‍थेटिक अंडरवियर पहनने में कोई बुराई नहीं, लेकिन रोज पहनने के लिये सूती अंडरवियर का ही चुनाव करना चाहिए।

कुल मिलाकर बात इतनी है कि सूती अंडरवियर सेहत के दृष्टी से भी और पहनने में भी आरामदाय होते हैं तो पुरुषों को चाहिए की वे आमतौर पर रोजमर्रा में सूती अंडरवियर ही पहनें। हां कभी कबहार विशेष मौकों पर स्टाइलिश सिन्‍थेटिक अंडरवियर पहनने में कोई गुरहेज नहीं।