पुरूषों के ग्रॉइन में होने वाला दर्द है खतरनाक, जानें कारण और बचाव

ग्रॉइन यानी पेडू और जांघ जोड़ का वो हिस्सा जहां पर पेट खत्‍म होता है। इसी जगह से पैर का हिस्‍सा शुरू होता है। इस जगह पर होने वाला दर्द वृषणकोश के दर्द से अलग होता है। हालांकि यह दर्द कभी-कभी ग्रॉइन तक पहुंच जाता है। कुछ कारण ऐसे हैं जिनकी वजह से ही ग्रॉइन में दर्द होता है।

दर्द का कारण

Man with prostate problem. Incontinence concept.

मांसपेशियों में खिंचाव

ज़्यादतर ग्रोइन में दर्द का कारण मांसपेशियों में खिंचाव होता है। जो लोग खेल खेलते हैं जैसे धावक, फुटबॉल, हॉकी आदि उनको ये समस्या अक्सर हो जाती है। इसमें दर्द चोट लगने के तुरंत बाद हो सकता है और सप्ताह या महीनों बाद भी होता है। ये दर्द बढ भी सकता है अगर लगातार चोटिल हिस्से पर दबाव पड़ता रहे और फिर ये वृषणकोश तक भी फैल सकता है।

हर्निया

इसमें पेट की मांसपेशियां कमज़ोर हो जाती है जिसकी वजह से शरीर के अंदरूनी अंग बाहर निकल आते हैं। इससे भी ग्रॉइन में दर्द होता है। ये कमजोर जगह होती है जो शरीर के अंदरूनी अंगों पर दबाव डालती है।

हड्डियों में दर्द

कूल्हों की बीमारी या चोट की वजह से भी ग्रॉइन का दर्द हो सकता है।

कैसे करें बचाव

जिस जगह पर दर्द हो रहा है वहां पर आइस पैक रखें यानि बर्फ की पोटली से सिकाई करें। दिन में तीन से चार बार इसे 20 से 30 मिनट के लिए करें। अगर दर्द से छुटकारा पाना है तो सामान्य दर्दनाशक दवा ले सकते हैं। हालांकि डॉक्‍टर से सलाह जरूर लें।

READ  आँतों की सूजन ( IBD ) – जानिये क्या हैं लक्षण, किस्में और इलाज - IBD KA ILAJ