पद्मावती के मेकर्स को एक और झटका, सेंसर बोर्ड की स्पेशल कमेटी ने रिजेक्ट की फिल्म

फिल्म पद्मावती के मेकर्स को एक और झटका लगा है। खबरों की माने तो सेंसर बोर्ड द्वारा बनाई गई स्पेशल कमेटी ने फिल्म को रिजेक्ट कर दिया है। एक निजी चैनल की रिपोर्ट के मुताबिक सेंसर बोर्ड की स्पेशल कमेटी जिसमें राजपूत और राजघराने के लोग भी शामिल थे, उन्होंने फिल्म को देखा। इस दौरान उन्होंने कई चीजों पर आपत्ति जताई और फिल्म को रिजेक्ट कर दिया। ऐसे में पद्मावती के मेकर्स की मुश्किलें फिर से बढ़ गई है।

जयपुर के इतिहासकारों को भी सेंसर बोर्ड ने दिया था न्यौता

सेंसर बोर्ड ने फिल्म ‘पद्मावती ’ देखने के लिए जयपुर के दो अनुभवी इतिहासकारों को आमंत्रित किया है और उनकी राय मांगी है। इन इतिहासकारों में प्रोफेसर बी.एल. गुप्ता और प्रोफेसर आर.एस. खांगरोत शामिल हैं। गुप्ता राजस्थान विश्वविद्यालय में इतिहास के रिटायर्ड प्रोफेसर हैं जबकि खांगरोत अग्रवाल कॉलेज में प्रिंसिपल हैं। खांगरोत ने बताया कि 21 दिसंबर को सेंसर बोर्ड के चेयरमैन प्रसून जोशी का फोन आया था। लेकिन, साल के अंतिम सप्ताह का कार्यक्रम दुबई में तय होने के कारण मना किया। तो जोशी ने कहा कि नए साल में जानकारी देंगे। वहीं गुप्ता ने बताया कि करीब 15 दिन पहले जोशी का फोन आया था। उन्होंने फिल्म पर राय देने के लिए बुलाया था। मगर अभी तक दुबारा कोई फोन नहीं आया। दोनों इतिहासकारों ने कहा कि भले ही यह कलात्मक स्वतंत्रता है, लेकिन यह इतिहास की कीमत पर नहीं होनी चाहिए।

विवाद के बीच फिल्म मेकर्स ने पद्मावती की रिलीज डेट को आगे बढ़ाई थी

पद्मावती पर जारी विवाद के बीच फिल्म मेकर्स ने एक बड़ा फैसला लिया था। फिल्म निर्माता कंपनी Viacom 18 ने विवाद बढ़ता देख रिलीज डेट आगे बढ़ा दी थी। ये फिल्म 1 दिसंबर को देशभर में रिलीज होने वाली थी। Viacom 18 ने एक बयान जारी कर कहा कि हम स्वेच्छा से इस फिल्म की रिलीज डेट को स्थगित कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम एक जिम्मेदार और कानून का पालन करने वाले कॉर्पोरेट नागरिक हैं। हमें देश के नियमों और सेंसर बोर्ड का पूरी तरह सम्मान करते हैं। हमारे द्वारा बनाई गई फिल्म पद्मावती में राजपूतों की वीरता और परंपरा को दिखाया गया है। इस फिल्म को देखने के बाद सभी को गर्व होगा। उन्होंने उम्मीद जताई कि जल्द ही जल्द ही फिल्म को मंजूरी मिल जाएगी और वो नई तारीखों की घोषणा करेंगे।

READ  खुद को पद्मावती की 37वीं पीढ़ी का वंसज बताते हुए कहा कि वो फिल्म रिलीज नहीं होने देंगे

Related Post