“टाइगर जिंदा है” मीडिया हाइप में न फँसे, कुछ नया नहीं है बस एक्शन सीन से भरी है मूवी

रेटिंग :-3.5 / 5
पाठकों की रेटिंग:- 3.5 / 5
कलाकार :-सलमान खान, कटरीना कैफ, अंगद बेदी, परेश रावल, गिरीश कर्नाड
निर्देशक :-अली अब्बास जफर
मूवी टाइप :- ऐक्शन, थ्रिलर
अवधि:- 2 घंटा 41 मिनट

अब जब लंबे अर्से बाद टाइगर की एक बार फिर वापसी हुई है तो सलमान के फैन्स भी अपने चेहते टाइगर का वेलकम करने को बेताब है। रिलीज़ से पहले फिल्म के ट्रेलर ने यूट्यूब पर नया रेकॉर्ड कायम किया तो अब फिल्म ने रिलीज़ से पहले सिनेमाघरों में 30 करोड़ से ज्यादा की अडवांस बुकिंग का रेकॉर्ड भी अपने नाम किया। इस फ़िल्म के डायरेक्टर बेशक बदल गए हों लेकिन कहानी और किरदारों को पेश करने का अंदाज पिछली फिल्म से काफी हद तक मिलता है।

पिछली फिल्म की कहानी अपने वतन से शुरू हुई तो इस बार आंतकवाद की आग मे बरसों से झुलसते सीरिया की जमीं से शुरू होती है। सलमान की यह फ़िल्म देखकर ताज्जुब होता है कि पाकिस्तान मे फिल्म को क्यों रोका गया, जबकि फिल्म मे ऐसा कुछ भी नहीं जो पाकिस्तान के जरा भी विरुद्ध हो। अलबत्ता पहली बार सिल्वर स्क्रीन पर पाक खुफिया एजेंसी आईएसआई और रॉ का एक एक साथ एक मिशन पर निकलना और कामयाब होना सिनेमा के पर्दे पर देखना अच्छा लगता है।

हॉलिवुड फिल्मों को टक्कर देते बेहतरीन ऐक्शन सीन ऑस्ट्रिया और मोरक्को की गजब की खूबसूरत लोकेशन के साथ और ‘धूम’ के बाद कटरीना के जबरदस्त स्टंट और ऐक्शन सीन फिल्म का प्लस पॉइंट हैं तो वही इंटरवल के बाद फिल्म को बेवजह खींचा जाना चन्द मिनट बाद पर्दे पर बंदूक से लगातार निकलती गोलियों की आवाज आपको कई बार टेंशन का आभास करा सकती है, लेकिन सलमान का स्टाइल और उनका नया कुछ बदला हुआ अंदाज आपको पसंद आ सकता है।

READ  क्या आप जानते हैं रेगिस्तान में कैसे हरियाली लाता है इजरायल?

– फिल्म क्रिटिक शुभ्रा गुप्ता के अनुसार फिल्म में कुछ चीजों का काफी ज्यादा विवरण दिया गया है जिसकी वजह से दर्शन बोर हो रहे हैं। अपने एक्शन किरदार में सलमान खान और कैटरीना कैफ काफी जंच रहे हैं। कैटरीना को एक्शन करते हुए देखना बहुत से लोगों को पसंद आएगा।
– महाराष्ट्र की दो पार्टियां सलमान खान की इस फिल्म का विरोध कर रही हैं। इन पार्टियों के नाम हैं महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना और शिवसेना। पार्टी का आरोप है कि सलमान खान की वजह से मराठी फिल्मों की स्क्रीन्स की संख्या कम हुई है जिसका असर उनकी कमाई पर पड़ेगा।

स्टोरी प्लॉट: अविनाश सिंह राठौर ( सलमान खान) अब करीब आठ साल के एक सुंदर से बेटे जूनियर टाइगर का पापा बन चुका है। अपनी खूबसूरत वाइफ जोया ( कटरीना कैफ) और बेटे के साथ टाइगर ऑस्ट्रिया की बर्फीली पहाड़ियों के बीच शांति से अपनी लाइफ गुजार रहा है, लेकिन एक पल भी टाइगर न तो अपने वतन और न ही रॉ को भूल पाया है।

यही वजह है कि टाइगर अपनी मौजूदगी का संकेत नई दिल्ली मै बैठे अपने बॉस शिवाय सर (गिरीश कर्नाड) को भेजता रहता है। इसी बीच सीरिया के कई कट्टरपंथी इस्लामिक संगठन आईएस का मुखिया उस्मान (साजिद) एक के बाद एक कई शहरों पर अपना कब्जा करने और इन्हें बर्बाद करने में लगा है, जो अमेरिका को सबक सिखाने के लिए और यहां दहशत फैलाने व बेगुनाह नागरिकों की हत्याएं करने में लगा है। अमेरिकी जर्नलिस्ट को मौत के घाट उतारने के बाद भी उस्मान की कैद में कई अमेरिकी हैं।

READ  ‘टाइगर जिंदा है’ का ट्रेलर आया, ट्रोल हुए सलमान खान

ऐसे में अमेरिका उस्मान के बेस कैम्प को तबाह करने और उस्मान सहित दूसरे आंतकियों को मारने के लिए सात दिन बाद अटैक करने का प्लान बनाता है। उस्मान के इसी अड्डे में भारत और पाकिस्तान की करीब 40 से ज्यादा नर्स भी हैं जो उस्मान और उसके साथी बगदादी के कब्जे में हैं। अब इन भारतीय नर्सों को भारत वापस लाने का मिशन रॉ प्रमुख शिनॉय टाइगर को सौंपते हैं।

टाइगर अपनी टीम में अपने विश्वासपात्र साथियों के साथ जाता है तो वही कभी पाक खुफिया एजेंसी की खास एजेंट रही जोया खान भी आईएस और उस्मान की गिरफ्त से पाकिस्तानी नर्सों को बचाने के मिशन पर सीरिया पहुंचती है। टाइगर के साथ रॉ की टीम और जोया के साथ आईएसआई के दो लोग भी यहां इन सबकी मदद करने में लगा है । करीब 25 सालों से ऑयल रिफाइनरी के लिए मजदूरों का लाने का काम करता है, लेकिन असल मे वह भी रॉ का एजेंट है। जोया और टाइगर के इस मिशन का अंजाम क्या होता है यह देखने के लिए आपको टाइगर से मिलना होगा।

Related Post