झारखंड: प्रेम बढ़ाने और संकोच मिटाने के लिए MLA ने कराया KISS कंपटीशन

झारखंड के पाकुड़ जिले से एक अनोखी खबर सामने आई है. यहां एक विधायक ने आदिवासी समाज के लोगों के बीच संकोच दूर करने के साथ प्रेम और आधुनिकता को बढ़ावा देने के लिए चुंबन प्रतियोगिता करवा डाली. यह प्रतियोगिता शनिवार रात लिट्टीपाड़ा विधायक साइमन मरांडी के पुश्तैनी गांव तालपहाड़ी में हुआ. इस अनोखी प्रतियोगिता में सबसे ज्यादा देर तक चुंबन करने वाले तीन जोड़ों को इनाम भी दिया गया.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सिदो-कान्हू मेले में आयोजित यह अनोखी चुंबन प्रतियोगिता आकर्षण का केन्द्र रही. इस इलाके में ऐसी प्रतियोगिता पहली बार आयोजित की गई थी जिस वजह से इसे देखने भारी भीड़ उमड़ी. इस प्रतियोगिता में 18 जोड़ों में भाग लिया जिन्होंने हजारों लोगों के सामने निसंकोच होकर किस किया.

संकोच दूर होगा: मरांडी
इसी साल हुए लिट्टीपाड़ा उपचुनावों में जीते झामुमो विधायक साइमन मरांडी ने इस चुंबन प्रतियोगिता के बारे में मीडिया से बातचीत करते हुए कहा, “प्रेम और आधुनिकता को बढ़ावा देने के लिए यह प्रतियोगिता कराई गई है. आदिवासी समाज के लोग संकोची होते हैं. ऐसे में पति-पत्नी के सार्वजनिक तौर पर चुंबन प्रतियोगिता में भाग लेने से न सिर्फ संकोच दूर होगा, बल्कि आपसी प्रेम भी बढ़ेगा.”

उन्होंने आगे कहा, “अपने दिल की बात न बता पाने के कारण आदिवासियों में पिछले कुछ वर्षों से पति-पत्नी के बीच झगड़े और तलाक के मामले बढ़े हैं. पढ़े-लिखे न होने के कारण आदिवासी अपने परिवार को सामाजिक ढांचे में ढाल नहीं पाते हैं. इससे उनके व्यवहार और पारिवारिक रिश्ते कमजोर हो जाते हैं. इस तरह की प्रतियोगिता उनके मन के संकोच को दूर करेगी.”

READ  गौरव अरोड़ा से बना गौरी…कभी लड़कियां मरती थीं उस पर

आपको बता दें कि पाकुड़ जिले के लिट्टीपाड़ा के तालपहाड़ी में आयोजित इस चुंबन प्रतियोगिता में महेशपुर विधायक स्टीफन मरांडी और झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के जिलाध्यक्ष श्याम यादव भी मौजूद थे.

विरोध भी हुआ जमकर
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस चुंबन प्रतियोगिता का विरोध भी जमकर हुआ. हिन्दू जागरण मंच और भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने इस आयोजन का मुखर विरोध किया. हिन्दू जागरण मंच के संताल परगना प्रभारी मुकेश कुमार शुक्ला ने कहा, “आदिवासी समाज को दिग्भ्रमित करने व इसे बदमान करने का कुचक्र रचा जा रहा है. इसे किसी भी हाल में चलने नहीं दिया जाएगा. यह सब ईसाई मिशनरी के इशारे पर किया जा रहा है.” मुकेश कुमार ने प्रतियोगिता में मौजूद दोनों झामुमो विधायकों के खिलाफ आंदोलन चलाने की धमकी भी दी है. इसके साथ ही यह भी बताया कि उन्होंने इन दोनों विधायकों पर कार्रवाई के लिए मुख्यमंत्री से अपील भी की है.

लिट्टीपाड़ा के बीजेपी नेता साहेब हांसदा ने कहा, “डुमरिया सिदो-कानू मेला में संथाल आदिवासी समाज और संस्कृति को स्थानीय विधायक ने चुंबन प्रतियोगिता आयोजित कर तार-तार कर दिया. संथाल समाज में युवक-युवती में एक दूसरे को चुंबन लेने या हाथ मिलाने की कोई परंपरा नहीं है. संथाल समाज में एक गलत परम्परा चालू कर यहां के युवा युवतियों को दिग्भ्रमित करने की विधायक की नई चाल है.”