प्लेटिनम से भी महंगा है पैलेडियम धातु जानिये क्या है इसकी कीमत |

अभी तक सबसे महंगा मेटल प्लेटिनम माना जाता है लेकिन पैलेडियम नाम का एक मेटल अब प्लेटिनम से भी महंगा हो गया है. पैलेडियम की मांग और पैलेडियम की कीमत दोनों में ही बहुत तेजी से बढ़ोत्तरी हो रही है.
दुनिया के सबसे बड़े मेटल के बाजार लंदन मेटल एक्सचेंज के अनुसार पेलेडियम धातु की कीमत जहां पिछले साल 681 अमेरिकी डॉलर थी वही पेलेडियम धातु आज 1008 अमेरिकी डॉलर प्रति औंस के हिसाब से मिल रही है.
विवाद में आया

जर्मनी की कंपनी फोक्सवैगन ने साल 2015 में माना कि प्रदूषण के मानकों को पास करने के लिए कंपनी ने एक सॉफ्टवेयर का प्रयोग किया था. इंजन से छेड़छाड़ के आरोप में कई दूसरी कंपनियां भी जांच के घेरे में आई थीं.

इस कारण डीजल गाड़ियों की बिक्री को बहुत नुकसान हुआ था.
पेट्रोल गाड़ियों का एक्जॉस्ट बनाया जाता है

पेलेडियम धातु पेट्रोल गाड़ियों के एक्जॉस्ट बनाने के लिए कैटेलिस्ट बनाने के लिए प्रयोग किया जाता है.
डीजल गाड़ियां यूरोप में लगभग सबसे ज्यादा मात्रा में प्रयोग की जाती है.
यूरोपियन ऑटोमोबाइल मैन्यूफैक्चर्स एसोसिएशन (ACEA) के अनुसार साल 2009 में डीजल गाड़ियों की बिक्री में कमी आ गई है.
पेलेडियम का प्रयोग कैटेलिस्ट कनवर्टर बनाने के लिए किया जाता है जो कि कार्बन मोनोऑक्साइड और कार्बन मोनोऑक्साइड जैसे हानिकारक गैसों को वॉटर वेपर में बदल दिया जाता है.
पेलेडियम को प्लैटिनम के एक विकल्प के रूप में प्रयोग किया जाता है. उम्मीद है कि अगले दो तीन सालों में पेलेडियम धातु की कोई नई खदान का प्रयोग नहीं किया जाएगा लेकिन इसकी मांग बाजार में बनी ही रहेगी.

READ  ये है दुनिया के सबसे खतरनाक जानवर – जानिये इनके बारे में |