UC Browser जासूसी का शक: गूगल ने हटाया प्ले स्टोर से

November 15, 2017

दुनिया भर में करीब 500 मिलियन लोगों द्वारा डाउनलोड किया जाने वाला यूसी ब्राउजर अचानक से गूगल प्ले स्टोर में दिखना बंद हो गया है। ऐसा कहा जा रहा है कि इंडिया में काफी कम समय में पॉपुलर होने वाले यूसी ब्राउजर को गूगल ने अपने प्ले स्टोर से हटा दिया है।

हालांकि यूसी ब्राउजर मिनी अभी भी गूगल प्ले स्टोर में दिखाई दे रहा है, लेकिन यूसी ब्राउजर एप्लीकेशन नहीं दिख रहा है। फिलहाल गूगल और यूसी वेब के द्वारा ब्राउजर हटाए जाने को लेकर कोई बयान नहीं आया है, लेकिन आशंका जताई जा रही है कि गूगल ने यह कदम चीन को डाटा भेजने को लेकर यूसी ब्राउजर एप्लीकेशन पर लगे आरोपों की वजह से उठाया है।

यूसी ब्राउजर एप्लीकेशन कुछ दिनों पहले ही भारत सरकार की नजरों में आया था, नरेंद्र मोदी सरकार ने शंका जाहिर की थी कि यूसी द्वारा चीन को जानकारियां भेजी जा रही हैं। ऐसा कहा गया था कि फोन में से इस एप्लीकेशन को हटाने के बाद भी यूसी यूजर्स के डाटा को पा सकता है। फिलहाल तो हैदराबाद की एक सरकारी लैब (सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ एडवांस कंप्यूटिंग) में इस मामले की जांच की जा रही है। हालांकि एप्पल स्टोर में अभी भी यूसी ब्राउजर एप्लीकेशन डाउनलोडिंग के लिए मौजूद है।

भारत में काफी पॉपुलर हो चुका यूसी ब्राउजर मोबाइल एप्लीकेशन, चीनी कंपनी अलीबाबा के स्वामित्व वाली यूसी ब्राउजर के तहत काम करता है। इस ब्राउजर की खासियत यह है कि इसके इस्तेमाल में काफी कम डाटा खर्च होता है। इसलिए यूजर्स मोबाइल डाटा की फिक्र करे बिना ही इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

READ  चीन की गंदी चाल! काला हुआ अरुणाचल की इस नदी का पानी

इस महीने की शुरुआत में ही यूसी ने बताया था कि पूरे विश्व भर में इसके करीब 500 मिलियन डाउनलोड हो चुके हैं। इस साल जून में जारी की गई इंटरनेट ट्रेंड्स की रिपोर्ट में कहा गया था कि भारत में सबसे ज्यादा डाउनलोड किए जाने वाले एप्लीकेशन में यूसी ब्राउजर छठवें स्थान पर है। एंड्राइड अथॉरिटी की एक रिपोर्ट में कहा गया था कि भारत में हर महीने करीब 100 यूजर्स यूसी वेब का इस्तेमाल करते हैं।