जानिये ! अधिकतर हवाई जहाज का रंग सफेद ही क्यों होता है ?

आसमान में उड़ते हवाई जहाज अक्सर लोगों को खूब लुभाते हैं .. हवाई यात्रा के अलावा भी जब आपके आस पास किसी गुजरतें प्लेन की आवाज सुनाई पड़ती है तो आप उसे आकाश में ढ़ूंढ़ने लगते हैं और उसे देखते ही अज़ीब सी खुशी मिलती है । इसके साथ ही अक्सर मन में ये भी ख्याल आता है कि नीले आसमान में हमेशा सफेद हवाई जहाज की क्यों दिखते हैं… क्या आपने जानते हैं कि हवाई जहाज का रंग सफेद ही क्यों होता हैं इस पर ओर कोई कलर क्यों नहीं हो सकता हैं। अगर नहीं तो आइए हम आपको बतातें हैं कि आखिर ऐसा क्यों होता हैं और हवाई जहाज पर दूसरा रंग क्यों नहीं हो सकता..

अक्सर आपने देखा होगा कि हवाई जहाज ज्यादातर सफेद रंग के ही होते हैं, बस उनके ऊपर व दाय व बाय पंखों पर अलग-अलग रंग किया जाता हैं, लेकिन यह सवाल जरूर आता है कि हवाई जहाज सफेद रंग में ही क्यों होता है। हालांकि ऐसे कुछ हवाई जहाज भी दुनिया में बने हैं जिनका रंग रंग-बिरंगा होता है लेकिन उनका बेस का कलर सफेद ही होता है। हवाई जहाज में सफेद रंग के पीछे भी कई वजह हैं।दरअसल इसके पीछे कुछ खास वजहें होती हैं और आज हम आपको वही बताने जा रहे हैं।

1 सफेद रंग गर्मी से बचाता है

हवाई जहाज का रंग सफेद होने के पीछे वैज्ञानिक कारण है दरअसल सफ़ेद रंग उष्मा का कुचालक रंग है और प्लेन जब आकाश में उड़ते है तो उनपर बड़ी तेज सूर्य की किरने पड़ती हुई जिससे ऊष्मा भी आती है पर हवाई जहाज सफ़ेद रंग का होने की वजह से वो अधिकतर ऊष्मा के रिफ्लेक्ट कर देता है और प्लेन उतना ज्यादा गर्म नही होता है जितना की सामान्यत तौर पर होना चाहिए।

READ  फैशन शो में मॉडल्स ने रैंप पर पहनी ऐसी जींस, देखते ही लोग कह उठे OMG

2 दुर्घटना की स्थिति में आसानी से खोजा जा सकता है

प्लेन को सुरक्षा की दृष्टि से भी सफेद रंग में रगां जाता है । असल में सफेद रंग होने की वजह से प्लेन क्रैश होने की स्थिति में इसे खोजना आसान होता है।

3 सफेद पेन्टिंग अन्य रंगों की तुलना में सस्ती होती है

आमतौर पर एक हवाई जहाज को पेन्ट करने में औसतन एक महीने का समय लगता है। साथ ही खर्च आता है 3 लाख से एक करोड रुपए तक का। इस तरह किसी भी कंपनी को नुकसान हो सकता है। और कोई भी कंपनी इतना नुकसान नहीं करना पसंद करती और इस नुकसान से बचने के लिए सफेद रंग ही हल होता है। अलग-अलग रंग और डिजायन पर बेतहाशा पैसा खर्च करने से बेहतर है कि हवाई जहाज को सफेद रंग से पेन्ट कर तैयार किया जाए।

4 धूप में सफेद रंग हल्का नहीं पड़ता

हवाई जहाज को हमेशा धूप में ही रखा होता है यहां तक कि जब एयरपोर्ट पर खड़ा होता है तो वह धूप में ही खड़ा होता है.. ऐसे धूप में कोई दूसरा रंगीन रंग हल्का हो जाता है। चूंकि धूप में सफेद रंग हल्का नहीं होता है और इसलिए कपंनियां हवार्ई जहाज को सफेद रंग ही देना पसंद करते हैं।

5 सफेद रंग में लगी चोट या डेन्ट का तुरन्त पता चल जाता है

सफेद रंग की वजह से प्लेन के रख रखाव में भी आसानी होती है.. सफेद रंग की वजह से हवाई जहाज पर लगी चोट या डेन्ट का पता तुरत चल जाता है और जल्द ही उसकी मरम्म्त की जा सकती है।

READ  तीन महीने में घटा लिया 19 किलो वजन, वह भी बिना कोई डाइट फॉलो किए, जानिए कैसे

6 प्लेन का वजन कम रहता है

रंगों का असर प्लेन पर वजन के रूप में भी पड़ता है। अन्य रंगों के इस्तेमाल से हवाई जहाज का वजन बढ़ जाता है। अधिक वजन वाले हवाई जहाज में ईन्धन की खपत अधिक होती है। जबकि सफेद रंग होने से प्लेन का वजन कम होता है और पेट्रोल भी कम लगता है।  इस तरह हवाई जहाज को उड़ाने में कंपनियों को खर्र्चा भी कम आता है।

यही सारी वजह हैं जिसकी वजह से हवाई जहाज का रंग सफेद होता है।