French Open: फ्रेंच ओपन जीतते ही किदांबी श्रीकांत ने किया वो कारनामा जो कोई भारतीय नहीं कर सका था

बेहतरीन फॉर्म में चले रहे भारत के बैडमिंटन खिलाड़ी किदाम्बी श्रीकांत ने अपनी झोली में एक और खिताबी जीत डाली है। उन्होंने रविवार को वर्ल्ड सुपर सीरीज टूर्नामेंट फ्रेंच ओपन के पुरुष एकल वर्ग का खिताब अपने नाम कर लिया है। श्रीकांत ने फाइनल में जापान के केंटा निशिमोटो को सीधे खेलों में 21-14, 21-13 से मात दी। यह मैच 35 मिनट तक चला। विश्व की 40वीं वरीयता प्राप्त जापानी खिलाड़ी चौथी वरीयता प्राप्त श्रीकांत को चुनौती नहीं दे सके और भारतीय खिलाड़ी ने आसानी से मुकाबला अपने नाम करते हुए एक और खिताब अपनी झोली में डाल लिया। श्रीकांत ने हाल ही में डेनमार्क ओपन का खिताब जीता था।

जापानी खिलाड़ी ने पहले गेम में श्रीकांत को कुछ चुनौती जरूर दी, लेकिन अंत तक आते-आते वह अपनी गलतियों के शिकार हो गए। 2-1 से आगे होने के बाद विश्व की चौथी वरीयता प्राप्त श्रीकांत 3-4 से पीछे हो गए थे। श्रीकांत ने हालांकि 4-4 से बराबरी की, लेकिन जापानी खिलाड़ी ने 8-5 की बढ़त ले ली। फिर भी अपनी सूझ-बूझ भरे खेल से श्रीकांत ने स्कोर 9-9 से बराबर कर लिया और ब्रेक तक 11-9 की बढ़त ले ली।

ब्रेक के बाद निशिमोटा पिछड़ते चले गए और श्रीकांत ने बिना किसी परेशानी के पहला गेम अपने नाम किया। दूसरे गेम की शुरुआत भारतीय खिलाड़ी ने शानदार की और लगातार तीन अंक अपने खाते में डाले। इस सत्र में अपने पांचवें फाइनल में पहुंचकर नया भारतीय रिकॉर्ड बनाने वाले किदांबी श्रीकांत का यह साल का चौथा और कुल छठा सुपर सीरीज खिताब है। इससे पहले उन्होंने इंडोनेशिया, ऑस्ट्रेलिया और डेनमार्क ओपन का खिताब अपने नाम किया था। वह एक साल में 4 या इससे ज्यादा सुपर सीरीज खिताब जीतने वाले दुनिया के केवल चौथे खिलाड़ी हैं।

READ  बिहार: शुगर मिल में जोरदार विस्फोट की वजह से 4 मजदूरों की मौत, बॉयलर फटने से हुआ हादसा

बेहतरीन खेल को श्रीकांत ने बरकारर रखा और 7-2 से बढ़त ले ली। दूसरे गेम के ब्रेक में श्रीकांत 11-5 के स्कोर के साथ गए। जापानी खिलाड़ी के लिए श्रीकांत के आक्रामक खेल के आगे वापसी करना मुश्किल साबित रहा और वह दूसरा गेम हारने के साथ ही खिताब से भी हाथ धो बैठे।