ये ‘अरबपति नाई है जिसके पास है “रोल्स रॉयल्स” जैसी कार’ लेकिन फिर भी जाता है सैलून !

क्या आप विश्वास करेंगे कि कोई व्यक्ति जो रोल्स रॉयल्स जैसी बेहद महंगी गाड़ी से निकलता है और सीधे एक सैलून में घुसकर बाल काटने लगता है और इस बाल काटने का चार्ज सिर्फ 100 रुपये लेता है ? नहीं, ना लेकिन यह बात पूरे 100% सच है | आइये हम आपको मिलते हैं एक ऐसी शख्शियत से जिन्होंने अरबपति बनने के बावजूद अपने सबसे पहले और पसंदीदा पेशे को आज तक नहीं छोड़ा |

मिलिए जी.रमेश बाबू से जिनकी हेयर सैलून की दुकान बैंगलोर के चिन्नास्वामी स्टेडियम के बेहद पास ही है | जब आप उन्हें रोल्स रॉयल्स से उतरते देखेंगे तब आपको उनमें एक बहुत बड़े रईस की छवि नजर आएगी पर जब आप उनसे मिलेंगे तब आपको एहसास होगा कि कोई व्यक्ति अपने पैसे से नही बल्कि अपने व्यवहार से अमीर होता है | जब उनसे उनके सामान्य व्यक्ति से एक अरबपति तक बनने के सफर के बारे में पूछा गया तब उन्होंने इसका जवाब कुछ इस तरह दिया |

“मेरे परिवार कि आय का मुख्य साधन हमारा सैलून था | पिताजी सैलून में ही काम किया करते थे लेकिन जब पिताजी का निधन हुआ उस समय मैं सिर्फ 7 साल का था | मेरा हमेशा से ही सपना था कि मैं अपने और अपने परिवार के लिए एक अच्छी कार खरीदूँ |”

इसके बाद उन्होंने अपने सैलून में ही मेहनत चालू रखी और कई सालों की मेहनत के बाद सन 1993 में उन्होंने एक मारुति वैन खरीदी और सन 1994 से उन्होंने कार को किराये से देने का व्यवसाय चालू किया | धीरे-धीरे यह व्यवसाय बढ़ता ही गया और आज उनकी किराये से कार देने वाली खुद की एक कम्पनी है जिसमें लगभग 200 कारें शामिल हैं | इसके अतिरिक्त उनके पास बीएमडब्ल्यू, मर्सिडीज़ जैसी नामचीन कंपनियों की कारें भी मौजूद हैं | जिस रोल्स रॉयल्स कंपनी की कार से वो अपने सैलून में आते हैं उस कार की कीमत 3 करोड़ से भी ज्यादा है |

READ  कॉकरोचेज़ से परेशान लोग जरुर पड़ें

उनकी कारों का न्यूनतम किराया 10,000 /- रुपये और अधिकतम किराया 50,000 /- रुपये है | उनकी दुकान में बाल कटवाने के लिए शाहरुख़ खान, अमिताभ बच्चन, ऐश्वर्या राय बच्चन समेत कई बॉलीवुड सितारे एवं कई राजनीतिज्ञ भी आते हैं | इतना पैसा और सफलता होने के बावजूद भी जब उनसे पूछा जाता है कि वो आज भी बाल काटने का काम क्यों करते हैं ? जवाब में उनका सिर्फ इतना ही कहना है कि उन्हें अपने इस पारिवारिक काम से बेहद प्यार है और वे हमेशा ये काम करते रहेंगे |