इस पाकिस्तानी टीचर को स्कूल ने इसलिए बहार निकाल दिया क्यों की ये अपनी मुछो से प्यार करता है

पाकिस्तान वाकई गजब देश है। यहां कब, क्या और कैसे हो जाए पता ही नहीं चलता। फिलहाल पाकिस्तानी मीडिया में एक ऐसे टीचर की चर्चा हो रही है, जिसे उसे स्कूल ने महज इसलिए नौकरी से निकाल दिया, क्योंकि उसकी मूछें स्टायलिश थीं।

इनसे मिलिए। इनका नाम है हसीब अली चिश्ती और इन्हें अपने मूछों की वजह से नौकरी से हाथ धोना पड़ा है।

स्कूल का दावा है कि टीचर हसीब अली चिश्ती की स्टायलिश मूछें उदारवादी विचार को बढ़ावा देने वाली लगती हैं। साथ ही उनकी मूछें स्कूल में पढ़ने वाली छात्राओं और फैकल्टी सदस्यों का ध्यान भटका रहीं थीं। लिहाजा उन्हें नौकरी से निकाल बाहर किया गया।

टीचर हसीब अली चिश्ती पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद के कई स्कूलों में पढ़ा चुके हैं। वो यहां पर थियेटर वैली नाम का एक थियेटर भी चलाते हैं, जिसमें सामाजिक बदलाव के लिए नाटकों का मंचन किया जाता है।

हसीब अली चिश्ती ने फेसबुक पोस्ट के जरिए स्कूल के रूढ़िवादी विचारों पर सवाल उठाए हैं।
“एक तरफ तो हम आगे बढ़ने की बात कर रहे हैं और दूसरी तरफ अपनी मानसि‍कता को बदलने को तैयार नहीं हैं। जिस देश में अपोजिट सेक्स के बीच बातचीत को गलत निगाहों से देखा जाता है, जहां डांस और ड्रामा को वल्गर बताया जाता है। ऐसे में इस देश के आगे बढ़ने की उम्मीद कैसे की जा सकती है।”

पाकिस्तान एक ऐसा मुल्क है, जहां आजाद-ख्याली की कोई गुंजाईश नहीं है। गाहे-बगाहे मीडिया रिपोर्ताज में यह बात सामने आती रहती है

READ  ये दुनिया का पहला मंदिर है, जिसका निर्माण ग्रेनाइट पत्थर से किया गया है-World Heritage Unesco