15 साल के एक स्टूडेंट ने खोज लिया हज़ारों साल पुराना शहर,लेकिन वैज्ञानिक मानने को राजी नही

दुनिया भर में आये दिन नई-नई खोजें होती रहती हैं. इनमें से कुछ काम की होती हैं. कल एक खबर आई थी कि ’15 साल के एक स्टूडेंट ने प्राचीन माया सभ्यता का हज़ारों साल पुराना शहर खोज निकाला है’, लेकिन ये एक गलत खबर थी. यह इंटरनेट पर सुर्खियां बटोरने का मात्र एक जरिया था.

में आई न्यूज़ के अनुसार, David Stuart, जो कि एक एंथ्रोपोलॉजिस्ट हैं ने इस खबर को निराधार बताया है. उनके अनुसार प्राचीन माया सभ्यता में ग्रह-नक्षत्रों की गणना के आधार पर शहरों को नहीं बसाया जाता था.
और अगर बात करें सेटेलाइट से ली गई तस्वीर की, तो असल में वो एक सूखा हुआ दलदल है.

इसके साथ ही वैज्ञानिकों ने कहा कि इसमें कोई शक नहीं है कि विलियम भविष्य में अपनी रुचि के अनुसार इस तरह की खोज कर सकते हैं, लेकिन दुर्भागयवश यहां उन्होंने गलती कर दी है.

आइये अब जानते हैं कि हज़ारों साल पुराने शहर को ढूंढ निकालने की पूरी खबर क्या थी?

एक कैनेडियन स्टूडेंट ने मैक्सिको के जंगलों में हज़ारों साल पुराने शहर को ढूंढ निकाला है. इसके लिए उसने ग्रह-नक्षत्रों की गणना को आधार बनाया. 15 साल के इस स्टूडेंट का नाम विलियम गैडूरी है. विलियम गैडूरी प्राचीन मध्य अमेरिकी सभ्यता से काफी प्रभावित था और घंटों तारामंडल व माया सभ्यता के नक्शों पर बने शहरों को समझने में गुज़ार देता था. एक दिन उसने कर दिखाया चौंकाने वाला काम.

कनाडा के एक न्यूज़पेपर के अनुसार, विलियम कहते हैं कि जब मुझे एहसास हुआ कि तारामंडल के सबसे प्रतिभाशाली सितारों का मिलान माया सभ्यता में बसे शहरों से होता है. तो यह जानकर मुझे बहुत ही आश्चर्य हुआ और मैं बहुत एक्साइटेड हो गया.’
पिछले सौ सालों में अभी तक कोई दूसरा वैज्ञानिक इस तरह की खोज नहीं कर पाया है.
22 विभिन्न नक्षत्रों का अध्ययन करने के बाद, विलियम को पता चला कि माया सभ्यता के 117 शहर जैसे Guatemala, Honduras और El Salvador पूरे मैक्सिको में फैले हुए हैं.

READ  करोड़ों साल पुराने डायनासोर के पेरों के निशान मिले ,जो की मानव शरीर के बराबर है

विलियम ने बताया कि जब उसने 23वें नक्षत्र के बारे में अध्ययन करना शुरू किया, तो उसने पाया कि दो सितारे तो पहले से ही किसी शहर से जुड़े हुए हैं, लेकिन जो तीसरा सितारा था, वो एकदम अलग था.
इसलिए विलियम ने Google Maps को उस दिशा में प्रोजेक्ट किया और अनुमान लगाया कि इस दिशा में मैक्सिको में स्थित Yucatan Peninsula के घने जंगलों में शायद और भी कोई शहर छुपा हो सकता है.

The Canadian Space Agency ने जब विलियम की इस खोज को देखते हुए अपने ट्रेंड सेटेलाइट टेलिस्कोप्स को उस तरफ भेजा तो, जो तस्वीरें सामने आईं वो चौंकाने वाली थीं. तस्वीरों में जो दिखा, वो शायद प्राचीन माया सभ्यता के दौरान बसाये गए शहर के पिरामिड और दर्जन भर से भी ज़्यादा छोटी-छोटी संरचनाएं हो सकती हैं.
सेटेलाइट द्वारा ली गईं तस्वीरें ये सत्यापित करती हैं कि माया सभ्यता के खोजे गए सभी शहरों में से यह शहर जनसंख्या के मामले में सबसे बड़ा शहर होगा

विलियम ने बताया कि ये मेरी तीन साल की मेहनत की परिणति और मेरी ज़िन्दगी का सबसे बड़ा सपना होगा. इसके साथ ही उसने बताया कि माया सभ्यता में उसकी रुचि 2012 में दुनिया के समाप्त होने की भविष्यवाणी के बारे में पढ़ने के बाद हुई थी.
विलियम की इस खोज पर The Canadian Space Agency के वैज्ञानिक Daniel de Lisle का कहना है कि विलियम की खोज बहुत ही रोचक है. संभावना है कि जिस स्थान को उन्होंने चिन्हित किया है, वहां माया सभ्यता का शहर हो सकता है. Lisle ने कहा कि ‘विलियम के इस प्रोजेक्ट की सबसे खास बात उसके शोध की गहराई है.’

University of New Brunswick के एक स्पेशलिस्ट Dr. Armand LaRocque के अनुसार, इस तरह की खोज और उसकी सत्यता को प्रमाणित करना बेहद महंगा होता है. क्योंकि वो स्थान घने जंगलों के बीच है और वहां जाकर रिसर्च करना काफी कठिन है.

READ  राजधानी एक्सप्रेस से कम नहीं मुंबई की ये खास पहली लोकल AC ट्रेन

वैज्ञानिकों ने कहा कि वो इस खोज से काफी चकित थे और इस बात से ज्यादा हैरान थे कि यह खोज एक 15 साल के लड़के ने की है.
सितारों की स्थिति और गायब हो चुके शहरों की लोकेशन के साथ उपग्रह द्वारा ली गई फोटोज़ के माध्यम से घने जंगलों में छुपे अवशेषों की पहचान को आपस में जोड़ना असाधारण है.
अपनी सफलता के बारे में विलियम बताते हैं कि माया सभ्यता में खगोल विज्ञान के आधार पर शहरों और कस्बों को बसाया जाता था और उन्होंने इसी को आधार बनाकर नक्षत्रों की गणना की. इस गणना के आधार पर उन्होंने एक शहर खोज लिया. विलियम की इस खोज ने पुरातत्व विशेषज्ञों को एक नयी दिशा प्रदान कर दी है.