राजा महाराजा भी इस्तेमाल करते थे अपनी कामोत्तेजना को बढ़ाने के लिए ये प्राचीन नुस्खे

कामोत्तेजना बढाने के उपाय – पुराने जमाने में राजा-महाराजाओं की कई रानियां हुआ करती थीं और ऐसे में उन्हें अपनी शारीरिक ऊर्जा को बरकरार रखने के लिए अपने खास वैद्य और हकीम द्वारा बनाए गए कई तरह के आर्युवेदिक नुस्खों का इस्तेमाल करना पड़ता था.

हालांकि उनके ये खास वैद्य और हकीम आयुर्वेदिक ग्रंथों के आधार पर प्राचीन जड़ी-बूटियों, रसायनों और सोना, चांदी, मोती भस्म जैसी धातुओं से शारीरिक दुर्बलता दूर करके शारीरिक ताकत बढ़ाने वाली औषधी तैयार करते थे.

आज हम आपको बतातें है राजा-महाराजाओं द्वारा शारीरिक दुर्बलता को दूर कर कामोत्तेजना को बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किए जानेवाले उन प्राचीन नुस्खों के बारे में जिनमें से कुछ आज भी आसानी से मिल जाते हैं.
1- शिलाजीत

शीरीरिक दुर्बलता को दूर करने और कामोत्तेजना को बढ़ाने के लिए आज भी कई लोग शिलाजीत का इस्तेमाल करते हैं. इससे कमजोरी, एनर्जी की कमी, खराब इम्युनिटी, असमय बुढ़ापा,इरेक्टाइल डिस्फंक्शन जैसी समस्याएं दूर होती हैं. शिलाजीत को चावल के दाने के बराबर एक चम्मच गाय के घी या शहद के साथ लेना चाहिए.

2- अश्वगंधा

कमजोरी, थकान, लो स्पर्म काउंट, इम्युनिटी की समस्या को दूर करने के लिए प्राचीन समय से ही अश्वगंधा का इस्तेमाल किया जा रहा है. सोने से पहले गुनगुने दूध के साथ एक चम्मच अश्वगंधा पावडर का सेवन करना पुरुषों के लिए काफी फायदेमंद बताया जाता है.

3- सफेद मूसली

इरेक्टाइल डिस्फंक्शन, इन्फर्टिलिटी, स्पर्म की कमी, कमजोरी और कमजोर इम्युनिटी की समस्या को दूर करने के लिए सफेद मूसली का सेवन प्राचीन समय से किया जाता रहा है. बेहतर परिणाम के लिए मिश्री और दूध के साथ एक चम्मच मूसली पावडर का सेवन सुबह और शाम को करना चाहिए.

READ  दिन-भर काम करने के बाद मसल्स में होने वाले दर्द को कम करेंगे ये तेल

4- शतावर

पुरुषों में इन्फर्टिलिटी, इरेक्टाइल डिस्फंक्शन, थकान, कमजोरी, लो स्पर्म काउंट और यूरिन की समस्या को दूर करने के लिए शतावर के प्राचीन नुस्खे का इस्तेमाल आज भी किया जाता है. बेहतर परिणाम के लिए एक चम्मच मिश्री और गाय के घी के साथ आधा चम्मच शतावर पावडर का इस्तेमाल करना चाहिए और फिर दूध पीना चाहिए.

5- केसर

केसर के नुस्खे का इस्तेमाल प्राचीन समय में राजा-महाराजा भी किया करते थे. इरेक्टाइल डिस्फंक्शन, इन्फर्टिलिटी, लो स्पर्म काउंट, कमजोरी और थकान जैसी समस्या से निजात पाने के लिए केसर का इस्तेमाल किया जाता है. इसके लिए गुनगुने दूध में चुटकी भर केसर डालकर रात को सोने से पहले उसका सेवन करना चाहिए.

ये है कामोत्तेजना बढाने के उपाय – गौरतलब है कि इन चीजों का इस्तेमाल राजा-महाराजा अपनी शारीरिक ऊर्जा को बढ़ाने के लिए किया करते थे. जिनका इस्तेमाल करके आप भी शारीरिक कमजोरी को दूर करके अपनी कामोत्तेजना को बढ़ा सकते हैं लेकिन इनका सेवन करने से पहले किसी विशेषज्ञ या फिर डॉक्टरी सलाह लेना ना भूलें.

Related Post