क्रिकेट इतिहास का सबसे रोमांचक मैच , जिसने रोमांच की हदे तोड़ दी |

क्रिकेट की गिनती दुनिया के सबसे रोमांचक खेलों में होती है। क्रिकेट को अनिश्चितताओं का खेल भी माना जाता है। मतलब किस पल मैच का रूख पलट जाए कभी कहा नहीं जा सकता।

ऐसा ही एक ऐतिहासिक मुकाबला आज से ठीक 11 साल पहले जोहानिसबर्ग के वॉन्डर्स स्टेडियम में दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया था। रोमांच की सारी हदों को तोड़ने वाले इस मैच का फैसला आखिरी गेंद पर हुआ था।

ऑस्ट्रेलियाई टीम दक्षिण अफ्रीकी दौरे पर थी। 5 मैचों की इस सीरीज में 2-2 मुकाबला जीत चुकी दोनों ही टीमें फाइनल मुकाबला अपने नाम कर सीरीज जीतने के इरादे से मैदान पर उतरी।

12 मार्च 2006 को खेले गए उस मुकाबले में रनों का ऐसा पहाड़ खड़ा हुआ कि वनडे क्रिकेट के इतिहास में इससे पहले कभी देखने को मिला. दोनों टीमों ने कुल 872 रन बनाए गए।

ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पोटिंग ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया। ऑस्ट्रेलियाई ओपनर एडम गिलक्रिस्ट और साइमन कैटिच ने टीम को तूफानी शुरूआत दिलाई। पहला विकेट गिलक्रिस्ट (55) के रूप में गिरा।

जिसके बाद तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने आए कप्तान रिकी पोटिंग ने रनों के तूफान को रूकने नहीं दिया। इस बीच दूसरे सलामी बल्लेबाज साइमन कैटिच (79) रन भी आउट हो गए।

पोटिंग ने 105 गेंदों में ताबड़तोड़ 164 रनों की पारी खेली जिसमें 13 चौके और 9 गगनचुंबी छक्के शामिल थे। चौथे नंबर पर आए हसी ने भी अपना दम दिखाया और 51 गेंदों में 81 रनों की विस्फोटक पारी खेली और टीम के स्कोर को 400 रनों के करीब पहुंचा दिया।

READ  15 सेकंड में बिक गईं रॉयल एनफील्ड का ये स्पेशल NSG कमांडो एडिशन

उनके आउट होने के बाद बाकी का काम विस्फोटक बल्लेबाज एंड्रयू सायमंड ने 13 गेंदों में 23 रन बनाकर दक्षिण अफ्रीका के सामने निर्धारित 50 ओवर में 4 विकेट के नुकसान पर 434 रनों का विशाल स्कोर खड़ा कर दिया जो वनडे इतिहास में इससे पहले कभी नहीं हुआ था।

सभी दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाजों की जमकर पिटाई हुई। तेज गेंदबाज मखाया एंटीनी ने 9 ओवर में 80 रन खर्च कर सिर्फ एक विकेट हासिल कर पाए। इसके अलावा एंड्रयू हॉल ने एक जबकि रोजर टेलिमाकस 2 विकेट अपने नाम किया।

क्रिकेट विशेषज्ञों ने ऑस्ट्रेलिया के इस ऐतिहासिक रन तूफान में दक्षिण अफ्रीका की हार तय मान ली थी। लेकिन किसे पता था कि इतिहास बनना अभी बाकी था।

435 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी साउथ अफ्रीकी टीम की शुरुआत निराशाजनक रही और सलामी बल्लेबाज बोएटा डिपेनार सिर्फ एक रन बनाकर पैवेलियन लौट गए।

अब सारी जवाबदारी कप्तान ग्रीम स्मिथ और तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे हर्शल गिब्स ने संभल कर खेलते हुए पारी को संवारा और ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की।

कप्तान स्मिथ ने 55 गेंदों में 90 रनों की विस्फोटक पारी खेली जिसमें 13 चौके और दो छक्के शामिल थे जबकि हर्सल गिब्स ने 111 गेंदों में 175 रनों की विस्फोटक पारी खेली जिसमें 27 चौके और 7 छक्के शामिल थे। दोनों खिलाड़ियों की ताबड़तोड़ पारियों ने मेजबान टीम की जीत की उम्मीद जगा दी।

इन दोनों के आउट होते ही दक्षिण अफ्रीका की पारी लड़खड़ा गई। लेकिन आज शायद दक्षिण अफ्रीका का ही दिन था। विकेटकीपर बल्लेबाज मार्क बाउचर ने हार नहीं मानी और 43 गेंदों में 50 रनों की अर्द्धशतकीय पारी खेलते हुए एक गेंद और एक विकेट शेष रहते टीम को जीत दिलाने में कामयाब रहे।

READ  लवबर्डस विराट और अनुष्का श्रीलंका में ये काम करते नजर आये |

इस रोमांचक मुकाबले को जीतने के साथ ही अफ्रीकी टीम ने पांच मैचों की सीरीज 3-2 से अपने नाम की। इस जीत के साथ ही दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच हुआ ये मैच वनडे क्रिकेट के इतिहास में दर्ज हो गया।

Related Post