Review “Tubelight” सलमान-शाहरुख और चाइनीस झू झू का Electric तड़का “Tubelight”

ट्यूब लाइट समीक्षा हिंदी मूवी रिव्यु ( Tubelight Review in Hindi)
Tubelight Review in Hindi (ट्यूब लाइट हिंदी मूवी रिव्यु)
Tubelight Review in Hindi
Average Ratings:2.8/5
Score: 75 % Positive
Reviews Counted: 5
Positive:3
Neutral: 1
Negative:1

Ratings:3/5 Review By:Ajay Brahamtej Site:Dainik Jagran

लेखक-निर्देशक का जोर दूसरी बारीकियां से ज्‍यादा मुख्‍य किरदारों के बात-व्यवहार पर टिका है। उसमें वे सफल रहे हैं। यह फिल्‍म पूर्वार्द्ध में थोड़ी शिथिल पड़ी है। निर्देशक लक्ष्‍मण को दर्शकों से परिचित करवाने में अधिक समय लेते हैं। 51 साल के सलमान खान और उनसे कुछ छोटे सोहेल खान अपनी उम्र को धत्‍ता देकर 25-27 साल के युवकों की भूमिका में जंचने की कोशिश करते हैं, लेकिन उनकी कद-काठी धोखा देती है। ‘ट्यूबलाइट’ के सहयोगी किरदारों में आए ओम पुरी, मोहम्‍मद जीशान अय्यूब, यशपाल शर्मा, जू जू और माटिन रे टंगू फिल्‍म की जमीन ठोस की है। वे अपनी भाव-भंगिमाओं से फिल्‍म के कथ्‍य को प्रभावशाली बनाते हैं। खास कर जू जू और माटिन बेहद नैचुरल और दिलचस्‍प हैं।

Ratings:3.5/5 Review By:R J Alok Site:Aaj Tak

सलमान खान का नाम जहन में आते ही आप के सामने दबंग खान, सुल्तान और ताबड़तोड़ एक्शन करने वाले इंसान का चेहरा नजर आता है, लेकिन आपको यह सारी चीजें इस फिल्म में नहीं दिखाई देंगी.फिल्म का स्क्रीनप्ले भी काफी बिखरा-बिखरा सा नजर आता है जिसे भली भांति अच्छे तरीके से पेश किया जाता तो कहानी किसी और लेवल की होती. फिल्म की सोच अच्छी है लेकिन उसे पूरी तरीके से दर्शा पाने में मेकर असक्षम दिखते हैं.फिल्म काफी इमोशनल है लेकिन कई बार ऐसे कई सीन आते हैं जिसमें इमोशन तो होता है लेकिन इमोशनल फील एक दर्शक के तौर पर महसूस नहीं होती, जिस पर काम किया जाना बहुत जरूरी था.फिल्म का क्लाइमेक्स काफी प्रेडिक्टेबल सा है जिसे और दिलचस्प किया जाता तो देखने का अलग मजा होता.

READ  सदी का महानायक नही करता कभी भी अपने कपड़ो को repeat !

Ratings:2.5/5 Review By:Prashant Site:NDTV Khabar

मुझे इस फिल्‍म की दूसरी खूबी लगी इसका विषय, जिसका प्रमुख संदेश है कि अगर आपको खुद पर यकीन है तो आप चट्टान भी हिला सकते हैं. हालांकि यह फिल्‍म हॉलीवुड फिल्‍म ‘लिटिल बॉय’ से प्रेरणा लेकर बनी है तो यह संदेश भी उसी फिल्‍म से लिया गया है. इसकी तीसरी खूबी है इसका संगीत और गाने. फिल्‍म के गाने अच्छे हैं. दिवंगत अभिनेता ओम् पूरी की ये आखिरी फिल्‍मों में से एक है और उनका किरदार और काम दोनों ही काफी अच्‍छे हैं. एक्‍टर ब्रजेंद्र काले की भी एक्टिंग फिल्‍म में काफी अच्‍छी है. ‘ट्यूबलाइट’ को मेरी तरफ से मिलते हैं 2.5 स्टार.

Ratings:3/5 Review By:Dainik Bhaskar Site:Dainik Bhaskar

सलमान खान ने इस फिल्म में बहुत ही उम्दा अभिनय किया है और यह उनके करियर की सर्वोत्तम फिल्मों से एक कही जा सकती है। उनके चेहरे की मासूमियत और उनकी आंखों में पानी कुछ लोगों की आंखें नम भी कर सकता है। सलमान के अलावा मंझे हुए कलाकार ओम पुरी हैं, जो अब हमारे बीच नहीं रहे। उनका काम भी काफी दिलचस्प है। चाइल्ड आर्टिस्ट मेटिन ने भी बढ़िया काम किया है। चाइना मूल की एक्ट्रेस जू जू का काम भी बेहतरीन है। मोहम्मद जीशान अयूब ने सराहनीय काम किया है। शाहरुख खान का कैमियो भी करेक्ट समय पर आता है, जो सरप्राइज़ करता है।

Ratings:2/5 Review By:Ravi Bule Site:Amar Ujala

हल्के रोशनीदार मनोरंजन में आप खुश हो सकते हैं कि ट्यूबलाइट पर सलमान खान ब्रांड चिपका है तो फिल्म से काम चला लें। वर्ना इसे देखने की ठोस वजह नहीं है। बजरंगी भाईजान में सशक्त कहानी लाने वाले निर्देशक कबीर खान यहां कमाल नहीं करते। मैदान-ए- जंग में इमोशन जगाना उनकी खूबी है, परंतु वह जादू यहां गायब है। लेकिन सलमान के जिन कंधों पर दारोमदार था, उन्हें डायरेक्टर ने कमजोर कर दिया। ट्यूबलाइट नहीं जली। सलमान को रिलीज के बाद एहसास होगा कि कबीर ने चीटिंग की क्योंकि दर्शकों को यही लगता है। यह वह सलमान नहीं, जो सुपरस्टार है।

READ  Top list of India's 10 most valuable celebrities

ट्यूब लाइट Story:
ट्यूबलाइट कबीर खान द्वारा निर्देशित एक आगामी भारतीय ड्रामा फिल्म है, जिसके निर्माता कबीर खान और सलमान खान हैं। सलमान खान तथा झू झू अभिनीत इस फिल्म की कहानी 1962 के भारत-चीन युद्ध के समय की है।
ट्यूब लाइट Release Date:
Jne 23 2017

निर्देशक: कबीर खान

निर्माता: सलमान खान

अभिनेता:
सलमान खान – लक्ष्मण
झू झू
सुहेल ख़ान – (भरत)
मुहम्मद जीशान अय्यूब
ओम पुरी
शाहरुख़ खान – (जादूगर)

Run Time: 2 hours and 16 Minutes

Related Post