दुल्हन की विदाई के समय कैसे रोये की ट्रेनिंग का पूरा वायरल सच

सोशल मीडिया पर हर रोज कई फोटो, वीडियो और मैसेज वायरल होते हैं. इन वायरल फोटो, वीडियो और मैसेज में कई चौंकाने वाले दावे भी किए जाते हैं. ऐसी ही एक फोटो सोशल मीडिया पर वायरल है और इसेक साथ एक चौंकाने वाला दावा भी किया जा रहा है.

क्या है वायरल तस्वीर में ?

वायरल तस्वीर अकबार की शक्ल में सोशल मीडिया पर घूम रही है. अखबार में जो खबर है उसकी हेडलाइन में मोटे-मोटे काले अक्षरों में लिखा है दुल्हन विदाई के समय कैसे रोए. बीच में एक दुल्हन की रोते हुए तस्वीर है जिसके साथ लिखा है 7 दिन में सीखें विदाई में कैसे रोएं.

वायरल फोटो के साथ क्या लिखा है ?

दुल्हन की विदाई के समय रोने की प्रॉपर एक्टिंग सिखाने के लिए एक क्रैश कोर्स शुरु हुआ है. एक हफ्ते के इस क्रैश कोर्स में भावी दुल्हनें और उसकी सहेलियां भाग ले सकती हैं. इसका मकसद विदाई जैसे संवेदनशील पलों को हास्यास्पद होने से बचाना है. ये कोर्स भोपाल की राधा रानी ने शुरु किया है.

वायरल मैसेज में दावा है कि राधा रानी ने अखबार से बात करते हुए क्रैश कोर्स शुरू करने की वजह भी बताई. राधा रानी ने बताया कि एक शादी में गई थीं. जहां विदाई के वक्त दुल्हन की सहेलियों को चिंता हुई कि अब रोया कैसे जाए. सब एक-दूसरे से कहती रही कि तू शुरू कर, फिर हम रोना शुरू करेंगे. किसी को रोना ही नहीं आ रहा था. एक सहेली ने रोना शुरू किया लेकिन उसने इतनी भयानक ओवरएक्टिंग कर दी कि दुल्हन रोने की जगह हंसने लगी. मैसेज के मुताबिक राधिका रानी को यहीं से आइडिया आया.

READ  सड़क किनारे पेशाब करते पकड़े गए महाराष्‍ट्र के जल मंत्री, वीडियो वायरल

क्या है दावे का पूरा सच ?

एबीपी न्यूज़ ने भोपाल में वायरल मैसेज की पड़ताल की और ऐसा कोचिंग इंस्टीट्यूट खोजने की कोशिश की. एबीपी न्यूज़ ने भोपाल के तमामा रिहायशी इलाकों और बाजारों में इस तस्वीर का सच जानने की कोशिश की लेकिन हमें ऐसा कोई स्कूल नहीं मिला जो दुल्हन को रोने का क्रैश कोर्स करवा रहा हो.

इसके बाद एबीपी न्यूज़ ने भोपाल से निकलने वाले तमाम अखबारों के दफ्तर में फोन किया. जो फोटो वायरल हो रहा था वो अखाबर की शक्ल में तो था लेकिन किस अखबार का था इसका कोई जिक्र नहीं था. भोपाल के सभी अखबारों ने ऐसी किसी भी खबर ने इनकार कर दिया.

इसके बाद वायरल मैसेज का सच जानने के लिए हमने एक बार फिर इंटरनेट पर तलाश शुरू की. इसमें हमें पलपल इंडिया वेबसाइट का लिंक मिला जिस पर शायद सबसे पहले ये खबर छपी थी. यहां जैसे ही खबर पढ़ते हुए आखिर तक पहुंचे तो हम भी हैरान रह गए. सबसे नीचे लिखा था ये खबर कपोल कल्पित है इसका मकसद केवल स्वस्थ मनोरंजन करना है किसी की मानहानि करना नहीं.

 abplive.in की पड़ताल में विदाई में रुलाई की ट्रेनिंग देने वाला मैसेज झूठा साबित हुआ है.

सोर्स:- abplive.in

Related Post