शनिवार को हफ्ते का सब से शुभ दिन बना देगी तुलसी, सब मंगल होगा – शनिवार के टोटके

शनिवार को तुलसी के पत्तों के इस रामबाण उपाय को करने से हाथों-हाथ बिगड़ी सिचुएशन कंट्रोल हो जाती है

अक्सर हमने सुनते हैं कि घर के लोग काफी कमाते हैं लेकिन फिर भी पैसा ना होने की वजह से बेहद तंगहाल जिंदगी जी रहे हैं। इस स्थिति में तुलसी का उपाय उन लोगों के लिए रामबाण उपाय है। इस उपाय को करना बहुत आसान है और इसे करते ही तुरंत असर दिखता है। इस उपाय से पैसे की समस्या तो दूर होती ही है साथ में घर के विभिन्न लोगों के बीच हो रहे झगड़े और सभी तरह के क्लेश भी मिट जाते हैं।

शनिवार को आटा पिसवाने जाते समय थोड़े से गेहूं में 100 ग्राम काले चने, 11 पत्ते तुलसी तथा 2 दाने केसर के मिला लें। अब इसको बाकी गेंहू में मिला कर पिसवा लें। इसके अलावा केवल शिनवार को ही आटा पिसवाएं। इस उपाय को करने के तुरंत बाद से ही आपको असर दिखने लगेगा।

शनिवार को काले कुत्ते को रसों के तेल में चुपड़ी रोटी खिलाने से भी धन संचय होता है।

शनिवार को पीपल के पेड़ में देसी घी का दीपक जलाने से भी मनोकामनाएं पूर्ण होती है।

तुलसी के पौधे पर प्रतिदिन सुबह शाम दीपक जलाने से व्यक्ति की सभी इच्छाएं पूरी होती हैं।

शनिवार को किया गया तिल का दान, दुख और दुर्भाग्य दूर करता है। किसी कारणवश ये दान करने में असमर्थ हैं तो तिल को जेब या पर्स में रखें।

शनिदेव को नीले रंग के फूल बहुत प्रिय हैं इसलिए भक्त उन्हें प्रसन्न करने के लिए ये फूल चढ़ाते हैं। आप उन्हें ये फूल नहीं चढ़ा सकते तो शनिवार को उसे जेब में रख लें। शाम तक लाभ मिलने के योग बनेंगे।

READ  सोने से पहले कमरे में जलाएँ कपूर की 1 गोली, सिर्फ़ 10 मिनट में आपको जो फ़ायदा होगा जिसकी आपने कभी कल्पना नही की होगी

लोहे अथवा कांच की गोलियां अपने अंग-संग रखने से शनि और राहू दोनों के अशुभ प्रभाव दूर होंगे।

शनिवार को काजल का दान करने से आंखों की रोशनी बढ़ती है और आंखों के विकार दूर होते हैं। स्वयं भी आंखों में काजल लगाएं, नहीं लगा सकते तो उसे अपने पास रखें।

काली उड़द दान करने से शारीरीक विकारों से मुक्ति मिलती है। शनिवार को इसे अपने पास भी रख सकते हैं।

शास्त्रों ने शनि के प्रभाव को कम करने हेतू एवं शनि की प्रसन्नता प्राप्त करने के लिए कृष्ण वर्ण का दान और काले रंग के उपाय बताए गए हैं। यदि आप ऐसा करने में असर्मथ हैं तो नीले और काले रंग के कपड़े पहने। कपड़े पहनना भी संभव न हो तो इस रंग का रुमाल रखें।